प्रयागराज: बाघंबरी गद्दी मठ के महंत बने बलबीर गिरि, चादर विधि की रस्म संपन्न

महंत बलवीर गिरि

प्रयागराज (उप्र)। बाघंबरी गद्दी मठ के महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत के अनसुलझे मामले के बीच आज मंगलवार को बलवीर गिरि को उनका उत्तराधिकारी नियुक्त कर दिया गया।

युवा संन्यासी बलवीर निरंजनी अखाड़े के उप महंत के रूप में अब तक हरिद्वार स्थित विल्केश्वर महादेव मंदिर की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

मंगलवार को षोडशी पूजा के बाद दिन के 12 बजे से बाघंबरी गद्दी मठ में नए महंत के रूप में बलवीर गिरि की महंतई चादर विधि की रस्म अदा की गई।

चादर विधि में निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रहमचारी के अलावा पंच परमेश्वर समेत कई महामंडलेश्वर और महंत मौजूद रहे। देश भर से आए संत-महंत समारोह के साक्षी बने।

महंत नरेंद्र गिरि की वसीयत के आधार पर निरंजनी अखाड़े के पंच परमेश्वर ने बलवीर को उत्तराधिकारी चुना था। नरेंद्र गिरि निरंजनी अखाड़े के सचिव भी थे, लेकिन अभी बलवीर को यह पद नहीं दिया जाएगा। 

निरंजनी अखाड़े में चार सचिव होते हैं। नरेंद्र गिरि की मौत के बाद एक पद रिक्त हो गया है। मौजूदा समय निरंजनी अखाड़े के तीन सचिवों में महंत रवींद्र पुरी, महंत राम रतन गिरि और महंत ओंकार गिरि के नाम शामिल हैं। षोडशी के बाद इस पद पर नई नियुक्ति के बारे में अखाड़े की ओर से विचार किया जाएगा।

षोडशी आयोजन भी रडार पर, आने-जाने वालों पर रहेगी नजर

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरि का षोडशी आयोजन भी जांच एजेंसी के रडार पर है। षोडशी आयोजन में देश भर से संत महात्मा जुटे हैं। ऐसे में जांच एजेंसियों की नजर भी इस आयोजन पर होगी। माना जा रहा है कि सीबीआई की टीम भी गोपनीय तरीके से इस आयोजन में शरीक होने वालों की जानकारी जुटा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button