Truecaller को टक्कर देने आ गया भारतीय ऐप BharatCaller, जानिए क्या है खासियत

bharat caller app

नई दिल्ली। कोरोना के बाद से भारत में कई देसी ऐप्स आ गए हैं वो विदेशी ऐप्स को काफी अच्छे से चुनौती दे रहे हैं, फिर चाहे वह ट्विटर देसी वर्जन Koo हो या PUBG का देसी ऐप बैटलग्राउंड इंडिया।

इसी कड़ी में अब भारत में कॉलर आईडी ऐप Truecaller को टक्कर देने के लिए देसी ऐप BharatCaller ने दस्तक दी है।

इस ऐप के निर्माता का कहना है कि उनकी ऐप ट्रूकॉलर से कुछ मामलों में आगे हैं।

यह ऐप भारतीयों को ट्रूकॉलर से बेहतर अनुभव देगी।

क्यों होती है Caller ID app की जरूरत?

कॉलर आईडी ऐप के जरिए आपके फ़ोन पर आए किसी भी अनजान कॉल करने वाले का नाम पता चल जाता है।

आपको आसानी से पता चल जाता है कि आपको कॉल करने वाले का नाम क्या है, वो कौन है? यहाँ तक कि आपको उसकी email id, facebook id भी नज़र आ सकती है।

BharatCaller ऐप की खासियतें

भारतकॉलर ऐप बाकी कॉलर आईडी ऐप्स से भिन्न है।

यह अपने यूजरस के कॉन्टैक्ट्स और कॉल लॉग्स को अपने सर्वर पर सेव नहीं करता जिससे यूजर्स की प्राइवेसी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

कंपनी के किसी भी कर्मचारी के पास यूजर्स के फोन नंबर्स का डाटाबेस नहीं होता है और न ही ऐसे किसी डाटा का एक्सेस होता है।

इस ऐप का सारा डाटा इन्क्रिप्टेड फॉर्मैट में स्टोर किया जाता है और इसका सर्वर भारत के बाहर कोई इस्तेमाल नहीं कर सकता है।

इसलिए भारतकॉलर ऐप पूरी तरह से सुरक्षित, भारतीय और यूजर-फ्रेंडली है।

भारतकॉलर को कई भारतीय भाषाओं में लॉन्च किया गया है, जैसे अंग्रेजी, हिन्दी, तमिल, गुजराती, बांग्ला, मराठी आदि।

कोई भी अपनी पसंद से भाषा चुन कर इस ऐप का इस्तेमाल आसानी से कर सकता है।

यह ऐप एंड्रॉयड और iOS दोनों यूजर्स के लिए उपलब्ध है। यह एक फ्री ऐप है।

यह ऐप अभी तक 6000 बार डाउनलोड की गई है।

कौन हैं भारतकॉलर ऐप के मालिक?

भारतकॉलर ऐप को एक भारतीय कंपनी किकहेड सॉफ्टवेयर्स प्रा.लि. ने बनाया है।

इस कंपनी के संस्थापक हैं IIM बैंगलोर से आये प्रज्ज्वल सिन्हा और सह-संस्थापक हैं कुणाल पसरीचा।

इनका ऑफिस नॉएडा, उत्तर प्रदेश में स्थित है।

क्यों बनाया भारतकॉलर ऐप?

BharatCaller को बनाने के पीछे जो उद्देश्य भारत का अपना कॉलर आईडी ऐप पेश करना है।

प्राइवेसी के चलते कुछ ही समय पहले भारतीय सेना ने Truecaller को बैन कर दिया था।

इस ऐप में स्पाईवेयर की वजह से ऐसा किया गया था।

भारतीय सेना ने अपने जवानों से यह कहा था कि वो सभी अपने फोन्स से TrueCaller ऐप को तुरंत डिलीट कर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button