कनाडा: PM ट्रूडो की आंदोलन वापस लेने की अपील, भारत को दिया था यह ज्ञान

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो

ओटावा। किसान आंदोलन पर भारत को ज्ञान देने वाले कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो आज अपने देश के लोगों के लोगों से आंदोलन वापस लेने की अपील करते दिख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदर्शन को रोकने की जरूरत है क्योंकि यह देश की अर्थव्यवस्था को बाधित कर रहा है।

ओटावा में कोविड-19 वैक्सीन जनादेश के खिलाफ विरोध कर रहे ट्रक ड्राइवरों के खिलाफ कड़ा रुख अपनाते हुए, ट्रूडो ने कहा कि इसे समाप्त होना चाहिए। बता दें कि किसान आंदोलन को उन्होंने प्रदर्शनकारियों का अधिकार बताया था।

कनाडा के प्रधानमंत्री ने संसद में कहा, “प्रदर्शनकारी हमारी अर्थव्यवस्था, हमारे लोकतंत्र और हमारे साथी नागरिकों के दैनिक जीवन को अवरुद्ध करने की कोशिश कर रहे हैं। इसे रोकना होगा।”

ट्रूडो ने कहा, “ओटावा के लोग अपने ही पड़ोस में परेशान होने के लायक नहीं हैं। वे सड़क के किनारे जारी हिंसा को सामना करने के लायक नहीं हैं।” यह एक ऐसे देश की कहानी है, जो एकजुट होकर इस महामारी से उबरा है। कुछ लोग चिल्ला रहे हैं।”

किसान आंदोलन पर क्या बोले थे ट्रूडो

भारत में किसानों के विरोध प्रदर्शन के समय जस्टिन ट्रूडो ने कहा था, ‘अगर मैं किसानों के विरोध के बारे में भारत से आने वाली खबरों पर अपनी बात नही रखता हूं तो मुझे खेद होगा। स्थिति चिंताजनक है।

हम सभी परिवार और दोस्तों को लेकर बहुत चिंतित हैं। हम जानते हैं कि यह आप में से कई लोगों के लिए एक वास्तविकता है। मैं आपको याद दिला दूं, शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के अधिकारों की रक्षा के लिए कनाडा हमेशा खड़ा रहेगा।

हम बातचीत की प्रक्रिया में विश्वास करते हैं। हम अपनी चिंताओं को उजागर करने के लिए कई माध्यमों से भारतीय अधिकारियों तक पहुंचे हैं। यह हम सबके लिए एक साथ आने का क्षण है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button