RT-PCR वैन को हरी झंडी दिखाकर सीएम नीतीश कुमार ने किया रवाना, ग्रामीण इलाकों में होगी कोरोना जांच

rt-pcr van

पटना। बिहार में कोरोना महामारी की आरटीपीसीआर (RT-PCR) जांच का दायरा बढ़ाने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने आज प्रदेश की पहली आरटी-पीसीआर वैन (RT-PCR van) को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस अवसर पर नीतीश कुमार ने कहा कि इस वैन के आ जाने से ग्रामीण इलाकों में कोरोना जांच में सहूलियत होगी और लोगों को समय पर जांच रिपोर्ट भी मिल जाएगी। कोरोना की जांच पर आने वाला खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। एक सैंपल की जांच में 649 का खर्च आता है।

कार्यक्रम में मौजूद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि जल्द ही 4 और नए RT-PCR वैन लाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जून महीने के अंत तक मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन से भी बिहार को आरटी-पीसीआर वैन मिल जाएगा।

एक दिन में 1000 लोगों की जांच का लक्ष्य

बिहार में पहली बार सरकार ने ग्रामीण इलाके के लिए हाई टेक RT-PCR वैन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया है।

इस हाई टेक वैन से मौके पर ही कोरोना की जांच के लिए मरीज का सैंपल कलेक्ट किया जाएगा और 3- 4 घंटे के अंदर उन्हें जांच रिपोर्ट भी दे दी जाएगी। सरकार ने एक दिन में 1000 लोगों की जांच का लक्ष्य रखा है.

24 घंटे में 4375 नए मरीज मिले

इस बीच बिहार के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों में दिख रहा है कि कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट आई है। शनिवार को पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना संक्रमण के 4375 मरीज मिले हैं।

प्रदेश में अब कुल एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 44 हजार 907 रह गई है। रिकवरी रेट बढ़कर 92.80 प्रतिशत पहुंच गया है, जबकि पिछले 24 घंटे में 103 लोगों की मौत हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button