उप्र के सभी जिले कोरोना कर्फ्यू से मुक्त, पर यह पाबंदियां अभी रहेंगी लागू

unlock process in up

लखनऊ। पिछले दो महीने से ज्यादा समय से कोरोना की दूसरी लहर की मार झेल रहे उप्र के निवासियों के लिए राहत भरी खबर है।

राज्य में लगातार कम हो रहे संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अब सभी जिलों को कोरोना कर्फ्यू से मुक्त करने का ऐलान कर दिया है।

राज्य के सभी जिलों में 600 से कम सक्रिय केस हो गए हैं। अब सिर्फ शाम सात बजे से सुबह सात बजे नाईट कर्फ्यू लागू रहेगा।

साथ ही शनिवार और रविवार की साप्ताहिक बंदी की व्यवस्था भी जारी रहेगी। नौ जून बुधवार से यह नियम लागू हो जाएगा।

यूपी सरकार की ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में सफल सिद्ध हुई है। इसी का परिणाम है कि लगातार संक्रमण के केस कम हो रहे हैं।

प्रदेश सरकार का दावा है कि 25 करोड़ की आबादी के बाद भी यूपी में जितने एक्टिव केस बचे हैं उतने कई राज्यों में नए केस आ रहे हैं।

अब प्रदेश में कुल सक्रिय केस 14 हजार बचे हैं। पिछले 24 घंटे में 2.85 लाख लोगों की कोरोना जांच में 797 लोग संक्रमित पाए गए हैं। अब राज्य का पॉजिटिविटी रेट 0.2 फीसद और रिकवरी रेट 97.1 फीसद है।

योगी सरकार ने संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सभी 75 जिलों में आंशिक कोरोना कर्फ्यू लगाया था। इसके साथ ही नाइट कर्फ्यू और शनिवार और रविवार की साप्ताहिक बंदी की।

इन प्रयासों से जब संक्रमण के मामले लगातार घटने लगे तो सरकार ने व्यवस्था बना दी कि जिन-जिन जिलों में 600 से कम सक्रिय मामले होंगे, उन्हें सप्ताह में पांच दिन कोरोना कर्फ्यू में छूट दी जाएगी।

इस तरह बड़ी तेजी से जिलों में सुधार होता गया और अब सभी 75 जिले कोरोना कर्फ्यू छूट पा चुके हैं। नाइट कर्फ्यू और साप्ताहिक बंदी अभी लागू रहेगी।

योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना प्रबंधन की समीक्षा बैठक के दौरान पाया कि प्रदेश के सभी जिलों में अब 600 से कम कोरोना के सक्रिय केस हो गए हैं। इस पर निर्देश दिया कि अब सभी जिलों में कोरोना कर्फ्यू से राहत दे दी जाए।

अब बुधवार से निर्धारित नियम-शर्तों के साथ बाजार खोलने व अन्य गतिविधियों की अनुमति दे दी जाएगी। हालांकि, सीएम योगी ने कोविड-19 से बचाव और इलाज की व्यवस्थाओं को लगातार मजबूत रखने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा सभी के सम्मिलित सहयोग और प्रयास से कोरोना संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम में सफलता मिली है। संक्रमण की चेन हर स्तर पर तोड़ने के लिए प्रभावी प्रयास जारी रहने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button