इस fake App से दूर रहें WhatsApp यूजर्स, डिवाइस से करता है डेटा की चोरी

cyber security firm Kaspersky

नई दिल्ली।  साइबर सिक्यॉरिटी फर्म Kaspersky ने WhatsApp यूजर्स को एक खतरे से आगाह किया है, जिसके मुताबिक एक पॉप्युलर वॉट्सऐप मॉड यूजर्स के डिवाइस में मैलवेयर पहुंचाने का काम कर रहा है। इस मॉड का नाम FMWhatsApp है

FMWhatsApp में मौजूद Triada Trojan मैलवेयर यूजर्स के डिवाइस से डेटा की चोरी करता है। मॉड्स किसी ऐप का यूजर क्रिएटेड वर्जन होता है।

इस वर्जन को कंपनी अप्रूव नहीं करती। यूजर्स इन ऐप की तरफ इसलिए आकर्षित हो जाते हैं क्योंकि इनमें ओरिजिनल ऐप के मुकाबले थोड़े ज्यादा फीचर मिलते हैं।

कैस्परस्काइ के मुताबिक ये मॉड यूजर के डिवाइस में वायरस वाले ऐड चलाते हैं और इनमें से कुछ ऐड ऐसे भी होते हैं, जो बिना यूजर की जानकारी बैकग्राउंड में चलते रहते हैं।

बैकग्राउंड में चलने वाले ये ऐड यूजर के फोन में मौजूद डेटा को ऐक्सेस करने के साथ ही उसकी चोरी भी कर सकते हैं।

FMWhatsApp यूजर के डिवाइस को ऐक्सेस करने के लिए SMS पढ़ने की परमिशन मांगता है और यूजर इस फेक ऐप को यह परमिशन दे देते हैं। ऐसे में इस फेक ऐप में मौजूद सभी मैलवेयर को भी एसएमएस का ऐक्सेस मिल जाता है।

इसका फायदा उठा कर हैकर मैलवेयर की मदद से यूजर के टेक्स्ट मेसेज बॉक्स में आने वाले वेरिफिकेशन कोड का इस्तेमाल करके प्रीमियम सब्सक्रिप्शन ले लेते हैं।

एक्सपर्ट ने दी यूजर्स को इन ऐप से दूर रहने की सलाह

कैस्परस्काइ के एक सिक्योरिटी एक्सपर्ट ने कहा कि इस ऐप के यूजर्स को इसके खतरों को अंदाजा नहीं है और इसकी वजह ऐप में मिलने वाले अडिशनल फीचर हैं। एक्सपर्ट ने यूजर्स को ऐसे ऐप्स से दूर रहने को कहा है।

एक्सपर्ट ने यूजर्स को सलाह देते हुए कहा कि ऐप्स को हमेशा ऑफिशियल प्ले स्टोर से ही डाउनलोड करना चाहिए। इन ऐप्स में हो सकता है कि यूजर्स को कम फीचर मिलें, लेकिन इनमें मैलवेयर और दूसरे खतरों का डर नहीं होता। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button