अब ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ के रूप में याद किया जाएगा 14 अगस्त

Partition of India in 1947

नई दिल्ली। आजादी की 75वीं वर्षगांठ से ठीक एक दिन पहले केंद्र की मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

अब से भारत में 14 अगस्त ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ के रूप में याद किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शनिवार को यह घोषणा की। देश कल रविवार को अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा।

ट्विटर पर ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के बंटवारे के दर्द को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

नफरत और हिंसा की वजह से हमारे लाखों बहनों और भाइयों को विस्थापित होना पड़ा और अपनी जान तक गंवानी पड़ी। उन लोगों के संघर्ष और बलिदान की याद में 14 अगस्त को ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ के तौर पर मनाने का निर्णय लिया गया है।

उन्होंने आगे कहा कि #PartitionHorrorsRemembranceDay यानी ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ का यह दिन हमें भेदभाव, वैमनस्य और दुर्भावना के जहर को खत्म करने के लिए न केवल प्रेरित करेगा, बल्कि इससे एकता, सामाजिक सद्भाव और मानवीय संवेदनाएं भी मजबूत होंगी।

बता दें कि भारत 15 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है, जबकि पाकिस्तान 14 अगस्त को मनाता है। 14 अगस्त को भारत के दो टुकड़े हुए थे और एक नए मुल्क पाकिस्तान का जन्म हुआ था।

पाकिस्तान को 1947 में ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन द्वारा भारत के विभाजन के बाद एक मुस्लिम देश के रूप में तराशा गया था। लाखों लोग विस्थापित हुए थे तथा बड़े पैमाने पर दंगे भड़कने के कारण कई लाख लोगों को जान गंवानी पड़ी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button