हिप्र: बर्फबारी व बारिश से यातायात ठप, किसानों-बागवानों के चेहरे खिले

शिमला में बर्फबारी

शिमला। हिमाचल प्रदेश में मौसम विभाग के येलो अलर्ट के बीच ऊंचाई वाले भागों में रात से बर्फबारी व निचले भागों में बारिश हो रही है।

प्रदेश के लाहौल-स्पीति, कुल्लू ,किन्नौर, शिमला, सोलन, मंडी, सिरमौर, चंबा व कांगड़ा जिले के ऊंचाई वाले भागों में बर्फबारी का दौर जारी है।

शिमला, कुफरी, नारकंडा, चायल ने भी बर्फ के सफेद चादर ओढ़ ली है। जलोड़ी दर्रा से लेकर रोहतांग दर्रा, बारालाचा, कुंजुम दर्रा, सोलंगनाला, अटल टनल के साउथ व नोर्थ पोर्टल, मनाली सहित पूरी लाहौल घाटी में एक से तीन फीट तक बर्फबारी हुई है।

राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र की ओर से गुरुवार सुबह जारी रिपोर्ट के अनुसार राज्य में तीन एनएच व एक स्टेट हाईवे समेत 259 सड़कें यातायात के लिए ठप हैं। शाम तक बंद सड़कों की संख्या और बढ़ेगी। साथ ही 477 बिजली ट्रांसफार्मर ठप हैं। 37 पेयजल योजनाएं भी बाधित हैं।

प्रदेश में बारिश-बर्फबारी से शीतलहर बढ़ गई है। बर्फबारी वाले इलाकों में लोगों की दुश्वारियां बढ़ गई हैं। शिमला, कुफरी, देहा, नारकंडा और खड़ापत्थर में भारी बर्फबारी से ऊपरी शिमला के लिए यातायात ठप है।

मंडी जिले के शिकारी देवी, कमरुनाग समेत आसपास की ऊंची पहाड़ियों पर भी बर्फबारी हुई है। बर्फबारी व बारिश से किसानों-बागवानों के चेहरे खिल उठे हैं।

बागवानी के लिए बर्फबारी संजीवनी मानी जा रही है। इससे सेब के लिए जरूरी चिलिंग आवर्स पूरे होने में मदद मिलेगी।

मौसम विज्ञान केंद्र ने आज प्रदेश में भारी बारिश व बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी किया था। कल चार फरवरी को भी बारिश-बर्फबारी की संभावना है।

पांच फरवरी को सभी क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा। जबकि छह और सात फरवरी को मध्य व उच्च पर्वतीय कुछ भागों में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान है। इस दौरान मैदानी भागों में मौसम साफ रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button