इस तारीख से गुरु पुन: हो रहे हैं मार्गी, इन राशियों के जातकों को मिलेंगे शुभ परिणाम

Rashifal

देवगुरु बृहस्पति पिछले महीने जून में कुंभ राशि में वक्री हुए। 18 अक्टूबर 2021 को वे पुन: मार्गी होंगे। गुरु अपनी वक्री अवस्था में 14 सितंबर को मकर राशि में प्रवेश करेंगे और मार्गी भी इसी राशि में होंगे। इसके कुछ समय बाद 21 नवंबर को गुरु फिर से कुंभ राशि में आ जाएंगे।

ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति ग्रह को शुभ ग्रह माना जाता है। यह ज्ञान, गुरु, धर्म, विवाह, संतान, वृद्धि आदि का कारक है। ये धनु और मीन राशि के स्वामी हैं।

देवगुरु बृहस्पति जहां कर्क राशि में उच्च के होते हैं तो वहीं मकर राशि में ये नीच के माने जाते हैं। देवगुरु बृहस्पति की चाल से पांच राशियों के जातकों को शुभ परिणाम प्राप्त होंगे।  

मेष राशि

इस अवधि में समाज में आपकी ख्याति बढ़ेगी। लोगों से आपको मान-सम्मान खूब मिलेगा। गुरु के प्रभाव से आपका आर्थिक पक्ष प्रबल होगा।

धन मिलने की संभावना होगी। वहीं जो जातक नौकरी की तलाश में हैं तो उनकी तलाश पूरी होगी। यह अवधि आपके लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध हो सकती है।

सिंह राशि

इस अवधि मे आप धर्म-कर्म के कार्यों में सफलता मिलेगी। शादी योग्य जातकों का विवाह की बात आगे बढ़ेगी।

वहीं कार्य-व्यापार में भी सफलता के प्रबल योग बनेंगे। इस अवधि में आपकी प्रॉपर्टी में बढ़ोतरी होने की संभावना है।

वृश्चिक राशि

गुरु देव की कृपा से आप हर कार्य में सफलता के झंडे गाड़ेंगे। यात्रा करना आपके लिए शुभकारी होगा। इस अवधि में आप कोई नया वाहन अथवा नई चल-अचल संपत्ति खरीद सकते हैं। धन संबंधी शुभ समाचार मिलेगा। 

धनु राशि 

आपके आत्म-विश्वास में वृद्धि होगी। आप बेबाकी से अपनी राय दूसरों के सामने रखेंगे। नौकरी व्यापार में खूब तरक्की करेंगे। इस अवधि में आपके सुख-सुविधाओं में वृद्धि हो सकती है।

वहीं प्रेम जीवन कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। लव पार्टनर से रिश्तों में खटास आ सकती है।

मीन राशि

मीन राशि के जातकों के लिए यह समय शानदार बीतेगा। इस अवधि में आपका भाग्य चमकेगा, जिसका आपको कई क्षेत्रों में लाभ मिलेगा।

धन या अन्य प्रकार के आर्थिक मसले आपके पक्ष में दिखाई दे सकते हैं। किसी भी काम में जल्दबाजी आपको नुकसान पहुंचा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button