वाराणसी: कोविड संक्रमण का फैलाव ग्रामीण क्षेत्रों में रोकने के लिए KCRC ने बनाया मास्टर प्लान

वाराणसी। काशी कोविड रिस्पोन्स सेन्टर (KCRC) द्वारा कोविड के संक्रमण को और बढने से रोकने, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में इसके फैलाव की रोकथाम के लिए वृहद मास्टर प्लान बनाकर युद्ध स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं।

इसके लिए हर ब्लाक पर एक कन्ट्रोल रूम शुरू किया जायेगा, जिसका नम्बर लोगों को तुरन्त उपलब्ध कराया जायेगा।

इसी क्रम में आज एमएलसी ए.के. शर्मा, मंडल कमिश्नर, जिलाधिकारी एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डाक्टरों, रेवेन्यू एवं विकास अधिकारियों तथा आशा वर्कर एवं ग्राम कर्मचारियों की मीटिंग ली गई।

उल्लेखनीय है कि कल बडे अस्पतालों के साथ भी इस विषय पर चर्चा हुई थी। इन चर्चाओं के मद्देनजर एक व्यापक योजना बनी है जो सभी को विस्तारपूर्वक बताई गई।

KCRC ने बताया कि जिले के सभी सम्बन्धित विभागों की टीम बनाकर कोविड संक्रमण से प्रभावित लोगों तक पहुँचनें का प्रयास किया जायेगा। इसके लिए डोर-टू-डोर सम्पर्क करने का एक व्यापक अभियान शुरू किया गया है।

इस सम्पर्क से मिलने वाली जानकारी का उचित फालोअप एवं संक्रमित लोगों की देखभाल हो सके, इसके लिए स्वास्थ्य कर्मियों को विशेष सूचना दी गई।

निर्देश दिया गया है कि सभी स्वास्थ्य केन्द्र (उपकेन्द्र,प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र) अगले 10 दिनों तक चैबीस घन्टे कार्यरत रहेगे। अर्थात रात्रि-दिन खुले रहेंगे।

सभी स्वास्थ्य केन्द्र एवं उनके डाक्टर तथा स्वास्थ्य कर्मचारी अपना सम्पर्क नम्बर स्वास्थ्य केन्द्र के बाहर लिखकर रखेंगे जिसे स्पष्ट रूप से पढा जा सके। उपयोग में आने वाले अन्य नम्बर भी जनता के लिए लिखकर दर्शाये जायेंगे एवं उपलब्ध रहेंगे।

इसके अलावा सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर रखने के लिए जो आक्सीमीटर अभी दिया जा रहा है उसे हमेशा केन्द्रों पर रखेगे एवं लक्षण वाले व्यक्तियों का आक्सीजन का मापकर उन्हें मार्ग-दर्शन देंगे। साथ ही तापमान लेने के लिए थर्मामीटर वगैरह भी आवश्यकतानुसार उपयोग में लाया जायेगा।

यह भी कहा गया कि सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर कोविड के लिए सामान्य रूप से उपयोगी दवाओं के पैकेट अच्छी संख्या में तैयार रखा जाय। ये पैकेट प्रचुर मात्रा में दिये गये हैं। आज इन अधिकारियों को दवाओं के अतिरिक्त पैकेट उपलब्ध भी कराये गये।

दवाओं के पैकेट  कोविड संक्रमित लोगों, लक्षण दिखने वाले लोगो एवं उनके परिवारजनों को आवश्यकतानुसार दिया जायेगा और उपयोग के लिए मार्ग-दर्शन दिया जायेगा।

साथ ही सभी स्वास्थ्य केन्द्र अपने क्षेत्राधिकार के गांवों में कुछ लोगों से सम्पर्क कर गांव में कोविड की सामान्य परिस्थिति एवं संक्रमित व्यक्तियों के स्वास्थ्य के बारे में लगातार जानकारी लेगें।

सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर वाहन की व्यवस्था रखी जायेगी ताकि किसी संक्रमित व्यक्ति की स्थिति बिगडने पर उसे योग्य अस्पताल में लाने की त्वरित कार्यवाही की जायेगी।

सभी स्वास्थ्य केन्द्रो पर पर्याप्त मात्रा में मास्क,सेनेटाईजर तथा जरूरी दवायें उपलब्ध रखी जायेगी जिसमें विशेषकर पैरासिटामोल, आइवरमेक्टिन, एरीथ्रोमाईसिन डाक्सीसाइक्लीन, जिंक टैबलेट, बिटामीन-सी टैबलेट एवं इकोस्पिरिन तथा अन्य जरूरी दवायें शामिल होंगी।

सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर कोविड संक्रमित  मरीजों को आवश्यकतानुसार प्राथमिक उपचार की व्यवस्था रखी जायेगी।  आक्सीजन सिलेण्डर अथवा कन्सेन्ट्रेटर की व्यवस्था आने वाले दिनों में आवश्यकतानुसार की जायेगी।

निर्देशित किया गया है कि वर्तमान परिस्थिति में सभी स्वास्थ्य कर्मियों की कार्य-स्थल पर उपस्थिति होगी एवं यदि कोई स्वास्थ्य कर्मी छुटटी पर है तो उसका अवकाश रद्द किया जायेगा। तीन शिफ्ट में चौबीस घन्टे कर्मचारी काम करेंगे।

प्राथमिक एव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एक तरफ अपने क्षेत्राधिकार के गांव में ग्राम प्रधान एवं अन्य व्यक्तियों से सम्पर्क में रहेंगे वहीं दूसरी तरफ KCRC के कन्ट्रोल रूम से भी (1077 पर ) सम्पर्क में रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button