डायबिटीज़ के पेशेंट लाइफस्टाइल में लाएं यह बदलाव, होगा फ़ायदा

डायबिटीज़

नई दिल्ली। कोरोना की पहली और दूसरी लहर का डेटा देखकर यह पता चलता है कि जो लोग अस्पताल में भर्ती हुए थे, उनमें लक्षण गंभीर थे और साथ ही रक्त शर्करा का स्तर भी उच्च था।

भारत में इस वक्त लगभग 12 प्रतिशत लोग डायबिटीज़ यानी मधुमेह से पीड़ित हैं, इसलिए इस समय इन लोगों का खुद को स्वस्थ और सुरक्षित रखना महत्वपूर्ण है।

अगर आप या आपके परिवार में कोई डायबिटीज़ से पीड़ित है, तो इन महामारी के दौरान लाइफस्टाइल में लाएं यह बदलाव।

1. एक्टिव रहें

डायबिटीज़ के मामले में ख़तरे की अहम वजह है रक्त शर्करा का अनियंत्रित स्तर।

शुगर के स्तर को नियंत्रण में लाने के लिए ज़रूरी है एक्टिव रहें और रोज़ किसी न किसी तरह का वर्कआउट करें।

इसके लिए चाहे आप चलें, दौड़ें या फिर वेट ट्रेनिंग करें। स्वस्थ रहने के लिए 30-45 मिनट का मध्यम व्यायाम काफी है।

2. स्वस्थ खाएं

कई ऐसी चीज़ें हैं, जो मीठी नहीं होती लेकिन ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ा सकती हैं, इसलिए डाइट से बाहर रखनी चाहिए। स्टार्च युक्त सब्ज़ियां, मैदा और ट्रांस फैट्स उनमें से एक हैं।

हरी सब्ज़ियां, साबुत अनाज, खट्टे फल और मेवे रोज़ाना डाइट का हिस्सा होने चाहिए। पोषक तत्वों से भरपूर आहार आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाता है।

3. तनाव के स्तर को मैनेज करें

स्ट्रेस भी ब्लड शुगर के लिए हानिकारक है। तनाव से कोर्टिसोल नाम का हार्मोन निकलता है, जो शरीर में ग्लूकोज़ के स्तर को सीधे प्रभावित करता है।

तनाव सिर दर्द, मांसपेशियों में दर्द, थकावट और ऐसे ही कई डायबिटीज़ के लक्षणों को गंभीर बनाता है।

अगर तनाव को कम करेंगे, तो इम्यूनिटी को बढ़ावा मिलेगा और डायबिटीज़ को मैनेज करना भी आसान होगा।

4. सही समय पर दवाइयां लें

डॉक्टर द्वारा दी गईं दवाइयों को समय पर लें। चाहे आप सर्दी-खांसी से ही क्यों न जूझ रहे हों, अपने ब्लड शुगर स्तर को नियंत्रित करने के लिए सभी दवाइयां लें।

5. खूब पानी पिएं

जिन लोगों को डायबिटीज़ होती है, उनके शरीर में पानी की कमी होने का ख़तरा होता है। इसलिए ऐसे लोगों को पानी खूब पीना चाहिए।

पानी के अलावा नारियल पानी, ताज़ा फल का जूस भी पी सकते हैं, लेकिन पैकेट वाले जूस से दूर रहें।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button