PM मोदी संग मुलाकात में कमला हैरिस ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा, पाक को कड़ा संदेश

PM Modi and kamala harris

वाशिंगटन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका दौरे पर हैं। प्रधानमंत्री की द्विपक्षीय मुलाकातों की कड़ी में दूसरी बैठक अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ हुई, जिसमें पीएम ने कोविड-19 महामारी में अमेरिका से मिले सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया।

व्हाइट हाउस में पहले दोनों नेताओं ने एकांत में बात की और फिर प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक में भाग लिया। पीएम मोदी ने कमला हैरिस को भारत आने का न्योता भी दिया। पीएम मोदी संग मुलाकात के दौरान अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने आतंकवाद का मुद्दा भी उठाया था।

उन्होंने स्पष्ट कहा कि वहां (पाकिस्तान की धरती पर) कई आतंकी संगठन सक्रिय हैं। उन्होंने पाकिस्तान को कहा है कि वह इन आतंकी संगठनन पर एक्शन ले, जिससे अमेरिका और भारत की सुरक्षा पर इसका कोई असर न पड़े। बैठक के पहले दोनों नेताओं ने संयुक्त रूप से मीडिया में को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने कोविड महामारी के दौरान कमला हैरिस की मदद को याद करते हुए कहा कि उपराष्ट्रपति बनने के बाद दोनों नेताओं के बीच कई बार बातचीत हुई है। एक बार तब बातचीत हुई थी जब भारत कोविड महामारी से जूझ रहा था। उस समय कमला हैरिस के एकजुटता व्यक्त करने वाले शब्द उन्हें याद हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अमेरिका की सरकार एवं कंपनियां और प्रवासी भारतीय समुदाय कोविड महामारी से बहुत कठिन मुकाबले में काफी मददगार रहे।

अमेरिकी राष्ट्रपति और हैरिस स्वयं ने ऐसे समय पदभार संभाला जब पूरी दुनिया बहुत कठिन चुनौती से जूझ रही थी और बहुत कम समय में ही उन्होंने तमाम उपलब्धियां हासिल कीं चाहे वह कोविड से मुकाबला हो या जलवायु परिवर्तन हो या क्वाड हो।

पीएम मोदी ने की कमला की तारीफ

पीएम मोदी ने कहा कि भारत एवं अमेरिका विश्व के सबसे बड़े एवं सबसे पुराने लोकतंत्र हैं। हमारे मूल्य समान हैं और हमारा सहयोग धीरे-धीरे बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा, ‘अमेरिका के उपराष्ट्रपति के रूप में आपका चुनाव एक बहुत ही महत्वपूर्ण एवं ऐतिहासिक घटना रही है। आप विश्व भर में बहुत से लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं और मुझे विश्वास है कि राष्ट्रपति जो बाइडेन एवं आपके नेतृत्व में हमारे द्विपक्षीय संबंध नयी ऊंचाई छुएंगे।’

पीएम मोदी ने उन्हें निमंत्रित करते हुए कहा, ‘भारत के लोग आपका स्वागत करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। मैं आपको भारत आने का निमंत्रण देता हूं।’

इसके बाद कमला हैरिस ने कहा कि भारत अमेरिका का एक बहुत ही अहम साझीदार है। जब भारत कोविड की दूसरी लहर से परेशान था, अमेरिका को भारत के लोगों की जरूरत और उसके लोगों के टीकाकरण की जिम्मेदारी का समर्थन एवं सहयोग देने का गर्व है।

उन्होंने कोविड टीकों के नियार्त को बहाल करने की भारत की घोषणा का स्वागत किया और इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि भारत रोजाना करीब एक करोड़ लोगों का टीकाकरण कर रहा है।

आतंकवाद पर भी चर्चा

पीएम मोदी के साथ अमेरिका गए विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने वाशिंगटन डीसी में कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने अंतरिक्ष सहयोग, सूचना प्रौद्योगिकी, उभरती और महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों, स्वास्थ्य क्षेत्रों में सहयोग सहित सहयोग के भविष्य के क्षेत्रों पर चर्चा की।

उन्होंने आगे कहा कि अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने सीमा पार आतंकवाद पर पीएम मोदी से सहमति जताई और माना कि भारत कई दशकों से आतंकवाद का शिकार रहा है।

वह ऐसे आतंकी समूहों के लिए पाकिस्तान के समर्थन की बारीकी से निगरानी करने की आवश्यकता पर भी सहमत हुईं। हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि पीएम मोदी संग मुलाकात के दौरान अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने आतंकवाद का मुद्दा भी उठाया था।

उन्होंने स्पष्ट कहा कि वहां (पाकिस्तान की धरती पर) कई आतंकी संगठन सक्रिय हैं। उन्होंने पाकिस्तान को कहाहै कि वह इन आतंकी संगठनन परर एक्शन ले, जिससे अमेरिका और भारत की सुरक्षा पर इसका कोई असर न पड़े।

पीएम और कमला के बीच पहला औपचारिक संवाद

विदेश मंत्रालय के अनुसार अमेरिकी उपराष्ट्रपति के साथ प्रधानमंत्री मोदी का यह पहला औपचारिक संवाद था। दोनों नेताओं के बीच इस वर्ष जून में टेलीफोन पर बातचीत हुई थी।

सूत्रों के अनुसार उपराष्ट्रपति सुश्री हैरिस ने भारत को कोविड महामारी के काल में अमेरिकी टीके उपलब्ध कराने के लिए प्राथमिकता देने की पेशकश की थी।

व्हाइट हाउस में हुई इस मुलाकात में दोनों नेताओं ने परस्पर हितों से जुड़े द्विपक्षीय, क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों पर विचार विमर्श किया।

भारतीय प्रतिनिधिमंडल में विदेश मंत्री एस जयशंकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला, अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू और विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (अमेरिका) वाणी राव शामिल थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button