2022 तक इस राशि वालों पर रहेगी शनिदेव की टेढ़ी नजर, क्या है आपकी राशि?

शनिदेव

नई दिल्ली। न्याय के देवता शनिदेव जातक को उसके कर्म के हिसाब से फल देते हैं। अच्छे कार्यों को करने वाले को शुभ परिणाम मिलता है और गलत कामों में शामिल होने वाले लोगों को शनि देव दंडित करते हैं।

शनि का सबसे ज्यादा असर साढ़े साती और ढैय्या के दौरान झेलना पड़ता है। शनि अपनी महादशा में कुछ राशियों को शुभ और कुछ राशियों को अशुभ परिणाम देते हैं।

शनि की साढ़े साती का दूसरा चरण-

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, शनि की साढ़े साती के पहले चरण में आर्थिक स्थिति पर प्रभाव पड़ता है। दूसरे चरण में शनि पारिवारिक जीवन और तीसरे चरण पर शनि सेहत पर सबसे ज्यादा असर डालते हैं। शनि का हर चरण ढाई साल का होता है। जिसमें दूसरे चरण को सबसे ज्यादा भारी माना जाता है।

2022 तक इन राशियों पर प्रभाव-

वर्तमान में शनि मकर राशि में विराजमान हैं। इस राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती का दूसरा चरण चल रहा है। मकर राशि वालों पर शनि का दूसरा चरण 29 अप्रैल 2022 तक रहेगा।

इस दौरान मकर राशि वालों को बहुत संभलकर रहने की जरूरत है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, शनि की साढ़े साती के दूसरे चरण में मकर राशि वालों को हर फैसला सोच-समझकर लेना होगा। कठिन मेहनत के बाद फल मिलेगा। कोई व्यक्ति धोखा दे सकता है।

करें ये उपाय-

शनि की साढ़े साती या शनि ढैय्या के दौरान शनि के प्रभाव को कम करने के लिए भगवान शिव और हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। गरीबों का दान देने से शनि देव प्रसन्न होते हैं।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हमारा यह दावा नहीं है कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। अपनाने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button