बांके बिहारी मंदिर में जबरन टीका या चंदन लगाए जाने पर रोक, जानें वजह

banke bihari mandir vrindavan

मथुरा (उप्र)। उप्र में मथुरा के वृन्दावन शहर में स्थित बांके बिहारी मंदिर की प्रशासनिक अधिकारी ने मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के माथे पर जबरन टीका या चंदन लगाए जाने पर रोक लगा दी है। ऐसा करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

मंदिर के राजभोग के सेवायत शैलेंद्र नाथ गोस्वामी ने प्रशासनिक अधिकारी सिविल न्यायाधीश (जूनियर डिवीजन) अर्चना सिंह से शिकायत की थी कि कई गोस्वामी जिनकी उस दिन सेवा भी नहीं होती वे मंदिर में बैठ जाते हैं और वहां दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के माथे पर चंदन या टीका लगाकर उनसे दान-दक्षिणा मांगते हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसा करने से मंदिर की व्यवस्था भंग होती है तथा प्रतिष्ठा को भी आघात पहुंचता है। ऐसे में देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालु स्वयं को असहज स्थिति में पाते हैं और मंदिर के प्रति उनके मन में गलत छवि उभरती है।

उन्होंने यह भी बताया कि पूर्व मंदिर प्रशासक द्वारा ऐसे मामलों पर रोक लगाने के लिए 16 मार्च 2017 में भी एक आदेश पारित किया था।

गोस्वामी ने बताया कि मंदिर प्रशासक न्यायाधीश ने शिकायत पर संज्ञान लेते हुए उक्त आदेश का सख्ती से अनुपालन करने के निर्देश दिए हैं।

साथ ही मंदिर परिसर में चबूतरे आदि पर अवैध कब्जा करने वाले और वहां बैठने वाले लोगों को भी हटाए जाने को कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button