बंगाल में उपचुनाव: नसीरुद्दीन शाह ने की अपनी भतीजी को जिताने की अपील

सायरा शाह हलीम

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दक्षिण कोलकाता की बालीगंज विधानसभा का उपचुनाव हाईप्रोफाइल हो गया है। मंत्री और दिग्गज नेता रहे सुब्रत मुखर्जी के निधन से खाली हुई इस सीट से अभिनेता नसीरुद्दीन शाह की भतीजी सायरा शाह हलीम और पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो उम्मीदवार हैं।

बाबुल सुप्रियो तृणमूल कांग्रेस जबकि सायरा शाह हलीम कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) की उम्मीदवार हैं। नसीरुद्दीन शाह व उनकी की पत्नी रत्ना पाठक शाह ने अपनी भतीजी के लिए उपचुनाव में वीडियो जारी कर समर्थन की अपील की है। यह वीडियो खुद सायरा शाह हलीम ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया है।

वीडियो में अभिनेता नसीरुद्दीन शाह कहते हैं कि मैं किसी भी राजनीतिक दल से जुड़ा हुआ नहीं हूं, मैं सिर्फ बालीगंज उपचुनाव के लिए सायरा शाह हलीम की उम्मीदवारी का समर्थन करने के लिए अपील कर रहा हूं। मैंने उसे हमेशा एक साहसी और ईमानदार व्यक्ति के रूप में देखा है, जो लोगों की मदद करने के लिए उत्सुक रहती है। वह हमारे अधिकारों की मुखर रक्षक रही हैं।

वहीं रत्ना पाठक शाह ने भी सायरा शाह हलीम को अपना समर्थन देते हुए एक वीडियो पोस्ट किया। उन्होंने कहा कि सायरा हलीम आशा और भविष्य है। उसे वोट दें। मुझे उम्मीद है कि हम उनके लिए रैली कर सकते हैं और उन्हें देश के युवाओं के जीवन में बदलाव लाने में मदद कर सकते हैं।

इससे पहले सायरा ने परिवार की पहचान को आकस्मिक बताया। उन्होंने कहा कि मुझे अपने पिता और अंकल पर गर्व है, लेकिन परिवार की पहचान मेरे लिए केवल आकस्मिक है।

उन्होंने कहा मैंने हमेशा लोगों के लिए काम किया, सीएए और एनआरसी के खिलाफ आंदोलन में हिस्सा लिया और रक्तदान और डायलिसिस कैंप चलाने में पति की मदद की। बालीगंज क्षेत्र में लोग जानते हैं कि मैं अपनी विचारधारा नहीं बदलूंगी।

सेना के उप प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल जमीरउद्दीन शाह की बेटी सायरा के पति डॉक्टर फुआद हलीम भी सीपीआई (एम) के नेता हैं। वे गरीबों के लिए हेल्थ कैंप्स और कम खर्च में डायलिसिस क्लीनिक चलाने के लिए जाने जाते हैं। वे विधानसभा के पूर्व स्पीकर हसीम अब्दुल हलीम के बेटे हैं।

बता दें कि सिर्फ बालीगंज ही नहीं आसनसोल लोकसभा सीट भी हाई प्रोफाइल बन गई है।ममता बनर्जी ने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा को यहां से उतारा है।

भाजपा के लिए दो बार सीट जीतने वाले सुप्रियो के पार्टी छोड़ने के बाद यह जगह खाली हो गई थी। सीपीआई ने पार्थ मुखर्जी को आसनसोल से उम्मीदवार बनाया है, जबकि भाजपा ने अग्निमित्रा पॉल को उम्मीदवार बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button