यूक्रेनी सेना और रूस में संघर्ष तेज, ‘Z’ लिखे वाहनों व हथियारों ने बढ़ाई आशंका

Russian Tanks With Z Symbol

कीव। पूर्वी यूक्रेन में यूक्रेनी सेना और रूस समर्थित विद्रोहियों के बीच छिड़ा संघर्ष और तेज हो गया है। दोनों ओर से जारी गोलाबारी में लोगों की मौतें हो रही है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन के दो सैनिक मारे गए हैं जबकि चार घायल हुए हैं।

विद्रोही नेताओं ने यूक्रेन के हमले में अपने कब्जे वाले इलाके में दो लोगों के मारे जाने की बात कही है। इस बीच समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक रूस के बख्तरबंद तोपें और टैंक यूक्रेन सीमा की ओर बढ़ रहे हैं जिससे युद्ध की आशंका मजबूत होने लगी है।

क्‍या यह आपरेशन ‘Z’ है?

आइएएनएस ने ब्रिटेन के अखबार डेली मेल की रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि रूसी तोपों और टैंकों पर अंग्रेजी का जेड अक्षर पेंट किया हुआ है।

जेड अक्षर केवल तोपों पर ही नहीं वरन यह ट्रकों और बंदूकों पर भी लिखा है। रूस के इस काफिले को यूक्रेन सीमा से लगे बेलेगोरोद और क्रस्‍क इलाके में देखा गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक रूस की सेना के करीब 200 वाहनों पर जेड अक्षर लिखा देखा गया है। ऐसा लगता है कि यह जेड अक्षर जल्दबाजी में पेंट किया गया है। माना जा रहा है कि सेना के इस जत्थे को कोई खास योजना दी गई है।

लोगों का सुरक्षित इलाकों में पलायन

एपी की रिपोर्ट के मुताबिक विद्रोहियों और यूक्रेन सेना से बढ़ते संघर्ष के बीच इलाकों से महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों का रूस के सुरक्षित इलाकों में पलायन जारी है।

पता चला है कि विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों में रहने वाले सात लाख लोगों के लिए रूस ने पासपोर्ट जारी कर उन्हें औपचारिक रूप से अपना नागरिक बना लिया है।

अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने पूर्वी यूक्रेन में छिड़े संघर्ष, बेलारूस और काला सागर में चल रहे युद्धाभ्यास और परमाणु हमले के अभ्यास को रूस के तनाव बढ़ाने वाले कदम कहा है।

यूक्रेन सीमा के करीब पहुंचे रूसी सैनिक

अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने कहा है कि इनके जरिये रूस यूक्रेन पर हमले का बहाना गढ़ रहा है। किसी भी दिन वह यूक्रेन पर सैन्य कार्रवाई शुरू कर सकता है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार से शुरू हो रहे सप्ताह में रूसी हमले का अंदेशा जताया है।

अमेरिका के रक्षा मंत्री लायड आस्टिन ने कहा है कि रूसी सैनिक यूक्रेन की सीमा के और करीब आ गए हैं और वे अपने हथियारों के साथ मोर्चेबंदी कर रहे हैं। उनकी तैयारियां हमले से ठीक पहले वाली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button