बिहार: RT-PCR वैन पहुंची सीएम नितीश कुमार के पैतृक गांव, लोगों ने किया स्वागत

RT-PCR वैन

पटना/नालंदा। बिहार सरकार द्वारा गांव-गांव कोरोना की RT-PCR जाँच व 24 घंटे में रिपोर्ट उपलब्ध कराने की योजना के तहत मेडिकल उपकरण बनाने वाली दिग्गज कंपनी POCT की RT-PCR वैन आज सीएम नितीश कुमार के पैतृक गांव नालंदा जिले के कल्याणबीघा पहुंची।

लोगों ने बिहार सरकार की इस सुविधाजनक कोरोना जाँच की खुले दिल से प्रशंसा की व इसे जनता के लिए बेहद उपयोगी बताया।

ग्रामवासियों ने कहा कि इस RT-PCR जाँच व 24 घंटे में रिपोर्ट उपलब्ध कराने की सुविधा पाकर हम बहुत खुश है. इससे कोरोना को रोकने में काफी मदद मिलेगी। जांच रिपोर्ट जल्दी आ जाने से समय रहते संक्रमित व्यक्ति को आइसोलेशन में रखकर उसका यथोचित उपचार किया जा सकेगा। इस तरह कोरोना को फैलने से रोका जा सकेगा।

लोगों ने कहा पहले रिपोर्ट आने में ही 7-8 दिन लग जाते थे तब तक संक्रमित व्यक्ति कईयों को संक्रमित कर चुका होता था और यह चेन बढ़ती जाती थी।

गौरतलब है कि गत 23 मई को बिहार में कोरोना महामारी की आरटीपीसीआर (RT-PCR) जांच का दायरा बढ़ाने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने प्रदेश की पहली आरटी-पीसीआर वैन (RT-PCR van) को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था।  

इस अवसर पर नीतीश कुमार ने कहा था कि इस वैन के आ जाने से ग्रामीण इलाकों में कोरोना जांच में सहूलियत होगी और लोगों को समय पर जांच रिपोर्ट भी मिल जाएगी। कोरोना की जांच पर आने वाला खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। एक सैंपल की जांच में 649 का खर्च आता है।

कार्यक्रम में मौजूद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने बताया था कि जल्द ही 4 और नए RT-PCR वैन लाए जा रहे हैं। जून महीने के अंत तक मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन से भी बिहार को आरटी-पीसीआर वैन मिल जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button