पटियाला: शिवसेना और खालिस्तान समर्थकों के बीच तीखी झड़प, पथराव

Patiala Violence

पटियाला। पंजाब के पटियाला में आज शिवसेना और खालिस्तान समर्थकों के बीच तीखी झड़प हो गई। इस दौरान दोनों पक्षों की तरफ से पथराव किया गया और तलवारें भी लहराई गई। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

मिली जानकारी के अनुसार, पटियाला में काली माता मंदिर के पास आज शुक्रवार को दो समूहों के बीच भिड़ंत में पथराव और तलवारें बरसाई गईं।

यह घटना तब हुई जब शिवसेना पटियाला में खालिस्तानी समूहों के खिलाफ मार्च कर रही थी। रैली के दौरान सिख संगठन और शिवसेना के सदस्य आपस में भिड़ गए। भीड़ में से कई लोगों ने नारेबाजी भी की, जिससे इलाके में तनाव बढ़ गया।

दोनों पक्षों में तनाव इतना बढ़ गया कि पुलिस टीम को स्थिति संभालने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। इस दौरान कई लोग घायल भी हुए हैं। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण किन्तु नियंत्रण में है।

पुलिस से बहस कर रहे प्रदर्शनकारी

घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आ रहे हैं। जिसमें लोगों का एक वर्ग हवा में तलवारें लहराते और नारे लगाते देखा जा सकता है। मामला बढ़ने पर कुछ लोगों ने पुलिस कर्मियों से भी बहस की। वीडियो में एक व्यक्ति एक मंदिर के पास एक इमारत के ऊपर खड़ा है और पत्थर फेंक रहा है।

घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्णः भगवंत मान

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि उन्होंने डीजीपी से बात की है, इलाके में शांति बहाल कर दी गई है।

उन्होंने ट्वीट किया, “पटियाला में झड़प की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मैंने डीजीपी से बात की, क्षेत्र में शांति बहाल कर दी गई है। हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और किसी को भी राज्य में अशांति पैदा नहीं करने देंगे। पंजाब की शांति और सद्भाव अत्यंत महत्वपूर्ण है।

अफवाहों पर ध्यान न दें

पटियाला के उपायुक्त साक्षी साहनी ने शांति का आह्वान किया और लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने का आग्रह किया। साक्षी साहनी ने कहा, “जिला प्रशासन पटियाला और पंजाब के सभी भाइयों और बहनों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करता है।”

साक्षी साहनी ने कहा, “मौजूदा स्थिति नियंत्रण में है और लगातार निगरानी की जा रही है। शांति और सद्भाव सुनिश्चित करने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। सभी से अनुरोध है कि वे निराधार समाचारों/सोशल मीडिया पर विश्वास न करें और अपने-अपने घरों, ठहरने की जगहों पर लौट आएं।”

साक्षी साहनी ने कहा, “शांति और सद्भाव हमारे सभी धर्मों का मूल मंत्र है, भले ही कोई विवाद या गलतफहमी हो, इसे बातचीत से सुलझाना महत्वपूर्ण है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button