कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले- 4 दिसंबर को खत्म हो जाएगा किसान आंदोलन

CM ML khatter and capt. amrinder singh

चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज अचानक हरियाणा के सीएम मनोहर लाल से मिलने पहुंचे। कैप्टन ने इसे औपचारिक मुलाकात बताया।

मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में अमरिंदर सिंह ने कहा कि किसान आंदोलन 4 दिसंबर को खत्म हो जाएगा। कई नेता किसान नेता उनके संपर्क में हैं। उन्हें यह जानकारी उनसे ही मिली है।

अमरिंदर सिंह ने कहा कि तीन कृषि कानूनों को वापस ले लिया गया है। इसके अलावा किसानों के 6-7 और मुद्दे हैं। उन पर भी केंद्र सरकार सहमत है। अब कोई मुद्दा नहीं बचा है।

कैप्टन ने कहा कि वह कुछ किसान नेताओं के संपर्क में हैं। 4 दिसंबर को आंदोलन खत्म करने पर फैसला हो सकता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि हालांकि उनकी किसान नेताओं से आंदोलन को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है, लेकिन कुछ किसान नेता उनके संपर्क में जरूर हैं।

पंजाब में भाजपा के साथ गठबंधन के मुद्दे पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि जब भी दिल्ली जाऊंगा वह गठबंधन को लेकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के साथ बातचीत जरूर करेंगे।

नवजोत सिंह सिद्धू पर कैप्टन अमरिंदर ने ज्यादा कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू सुबह कुछ बोलते हैं शाम को कुछ और बोलते हैं। वह उनके बारे में कुछ नहीं कहना चाहते।

मनोहर लाल से मुलाकात पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि यह मुलाकात काफी अच्छी रही। उनकी यह मुलाकात एक शिष्टाचार मुलाकात थी। हरियाणा के मुख्यमंत्री के साथ चाय पीने के लिए समय मांगा था। इस मुलाकात में किसी राजनीतिक मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई है।

बता दें, सीएम रहते हुए हरियाणा-पंजाब के मुद्दों को लेकर कैप्टन व मनोहर लाल का छत्तीस का आंकड़ा रहा है। एसवाइएल नहर निर्माण, चंडीगढ़ राजधानी, विधानसभा भवन में अधिक हिस्सेदारी व हाई कोर्ट यह हरियाणा व पंजाब दोनों के बीच के मुद्दे हैं।

एसवाइएल के मुद्दे पर कैप्टन अमरिंदर सिंह सबसे आक्रामक रहे हैं और हरियाणा की सरकार को घेरते रहे हैं। अब सीएम पद से हटने व कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन ने अपनी पार्टी का गठन किया है।

पंजाब में विधानसभा चुनाव वर्ष 2022 की शुरुआत में ही होने हैं। ऐसे में कैप्टन अपनी नई पार्टी की मजबूती की दिशा में काम कर रहे हैं।

कैप्टन भाजपा से गठबंधन की संभावनाएं तलाश रहे हैं। वह भाजपा के दिग्गज नेताओं से मुलाकात कर रणनीतिक चर्चाओं में जुटे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button