सर्दियों के मौसम खासतौर पर करें यह योगासन, होंगे कई फायदे

Bhujangasana

योग करने से मन, शरीर और आत्मा को कई गुना फायदे मिलते हैं। स्पेशली  ठंड के समय योग का अभ्यास करने से शरीर गर्म रहता है। सर्दी के मौसम में नियमित रूप से योग का अभ्यास करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

आइए जानते हैं, सर्दियों के मौसम में किए जाने वाले कुछ खास योगासनों के बारे में-

पश्चिमोत्तानासन

यह आसन पीठ के निचले हिस्से, हैमस्ट्रिंग और कूल्हों को खींचते हुए पेट के अंगों की मालिश और शरीर को टोन करता है।

Paschimottanasana : Kalpanawrites about seated forward bending pose
पश्चिमोत्तानासन

कैसे करें  

इसे करने के लिए सबसे पहले दोनों पैरों को बाहर की ओर फैलाते हुए जमीन पर बैठ जाएं।

पैर की उंगलियों को एक साथ रहने दें, फिर सांस लें और अपनी बाहों को ऊपर उठाएं।

जहां तक हो शरीर को आगे की ओर झुकाएं और शरीर को भी झुकाएं।

आगे की ओर झुकते हुए सांस छोड़ें।

धनुरासन

यह आसन पैर और बांह की मांसपेशियों को टोन करता है। यह मासिक धर्म की परेशानी और कब्ज से राहत दिलाने में भी फायदेमंद है।

How to Do Dhanurasana (Bow Pose): Steps and Benefits - NDTV Food
धनुरासन

कैसे करें  

सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं।

अब सांस छोड़ते हुए घुटनों को मोड़ते हुए कमर के पास ले आएं।

अब अपने हाथों से फुट को पकड़ें।

फिर सांस लेते हुए सिर, छाती और जांघ को ऊपर की ओर उठाएं।

त्रिकोणासन

यह आसन पाचन में सुधार और तनाव को कम करने में मदद करता है और चिंता, स्ट्रेस और पीठ दर्द को भी कम करता है।

Triangle Pose (Trikonasana) - Vinyasa Yoga Academy
त्रिकोणासन

कैसे करें  

इसे करने के लिए दोनों पैरों के बीच 2 से 3 फुट का फासला छोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।

राइट पैर को राइट की तरफ मोड़ें और अपने कंधों की उचाई तक दोनों हाथों को बगल में फैलाएं।

अब सांस लें और राईट साइड झुकें।

भुजंगासन

यह आसन पेट को टोन करता है और ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करता है। यह मिडल और ऊपरी पीठ के लचीलेपन को भी मजबूत और बेहतर बनाता है।

Bhujangasana Yoga (Cobra Pose) – Benefits & How to Do It
भुजंगासन

कैसे करें  

इसके लिए नीचे की ओर मुंह करके जमीन पर लेट जाएं

फिर अपने हाथों को कंधों के बगल में जमीन पर फैलाएं।

पैरो को पीछे से फैलाएं और धीरे-धीरे सांस लें।

अब अपने ऊपरी शरीर को ऊपर उठाएं।

इस पोजीशन में 25 से 30 सेकेंड तक रहें, फिर सांस छोड़ते हुए लेटने की स्थिति में वापस आ जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button