अमरिंदर सिंह ने किया नई पार्टी का एलान, कल करेंगे अमित शाह से मुलाकात

amrinder singh

चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने आज अपनी नई पार्टी के गठन का एलान किया, हालांकि नाम और चुनाव चिह्न के बारे में कहा कि बाद में बताएंगे।

उन्‍होंने कहा कि इसके लिए चुनाव आयोग में आवेदन कर किया है और मेरे वकील इस मामले को देख रहे हैं। नाम और चुनाव चिह्न के बारे में फैसला चुनाव आयोग करेगा।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह कृषि कानूनों व किसान आंदोलन को समाप्‍त करने के लिए पहल करेंगे।  कल इस मामले को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मिलेंगे। उनके साथ 20-25 लोगों का शिष्‍टमंडल भी होगा।

सभी सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

कैप्‍टन अमरिंदर ने कहा कि उनकी पार्टी 2022 के पंजाब विधानसभा चुनाव में सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसके लिए दूसरे दलों के साथ गठबंधन करेंगे या खुद अपनी पार्टी की बदौलत लड़ेंगे।

कहा कि राहुल गांधी जिस तरह पंजाब के नेताओं को बुलाकर मिल रहे हैं उससे साफ है कि वह घबराए हुए हैं। जब से सिद्धू सीन में आए हैं तब से कांग्रेस की लोकप्रियता में 24 फीसदी की कमी आई है।

कैप्टन ने कहा कि वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे। अपने साथ एक शिष्टमंडल भी ले जाएंगे। वह कृषि कानून को लेकर धरने पर बैठे किसानों को लेकर प्रेजेंटेशन देंगे। वह निजी तौर पर अमित शाह से किसान आंदोलन के हल के लिए मिलने जा रहे हैं।

सभी चुनावी वादे पूरे किए, हमेशा सैनिक की तरह काम किया

कैप्टन अपनी उपलब्धियां बताते हुए कहा कि मुख्‍यमंत्री के रूप में अपने वादे पूरे किए। पंजाब की सुरक्षा से अभी समझौता नहीं किया।

उन्‍होंने कहा कि मैं करीब साढ़े नौ साल पंजाब का मुख्‍यमंत्री और गृहमंत्री रहा, इसलिए राज्‍य के सुरक्षा के खतरों व चिंताओं से अवगत हूं। इस बारे में समय-समय पर केंद्र को भी बताता रहा।

अरूसा आलम सहित अन्‍य मामलों की चर्चा करते हुए उन्‍होंने कहा कि चुनाव नजदीक आते ही इस तरह के मुद्दे क्यों उठाए जा रहे हैं।

उन्‍होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू जहां से भी लड़ेंगे हम उसके खिलाफ लड़ेंगे। कैप्टन ने कहा सिद्धू् को कुछ पता नहीं है। जब तक राज्य सरकार और केंद्र सरकार मिलकर काम नहीं करते तब तक राज्य तरक्की नहीं कर सकता।

नवजोत सिंह सिद्धू कुछ नहीं जानता, उसके पास दिमाग नहीं 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के ट्वीट पर बोले,  ‘वह कुछ नहीं जानता, बहुत ज्यादा बोलता है, उसके पास दिमाग नहीं है।

मैंने इस पर (गठबंधन पर) कभी अमित शाह या ढींढसा से बात नहीं की, लेकिन मैं करूंगा। मैं कांग्रेस से लड़ने के लिए मजबूत होना चाहता हूं, शिअद, आप। मैं उनसे बात करूंगा, हम इन्हें हराने के लिए संयुक्त मोर्चा बनाएंगे।’

उन्‍होंने कहा कि वे (कांग्रेस) सुरक्षा उपायों को लेकर मेरा मजाक उड़ाते हैं। मेरी बेसिक ट्रेनिंग एक सैनिक की है। मैं 10 साल से सेवा में रहा हूं। मेरे प्रशिक्षण की अवधि से लेकर सेना छोड़ने तक, इसलिए मुझे मूल बातें पता हैं। 

दूसरी ओर, मैं 9.5 साल तक पंजाब का गृह मंत्री रहा। कोई जो एक महीने से गृह मंत्री रहा है, ऐसा लगता है कि वह मुझसे ज्यादा जानता है। कोई भी परेशान पंजाब नहीं चाहता। हमें समझना चाहिए कि हम पंजाब में बहुत मुश्किल दौर से गुजरे हैं।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा,  4.5 वर्षों के दौरान जब मैं मुख्‍यमंत्री  था, तो हमने जो हासिल किया है उसका पूरा विवरण हम दे रहे हैं यह हमारा घोषणापत्र है। जब मैंने पदभार संभाला था उस समय की स्थिति और  हमने जो हासिल किया है उसका यह हमारा घोषणापत्र है।   

उन्‍होंने कहा, मैंने हमेशा सैनिक के तरह काम किया। मैं सीएम के रूप में किए गए अपने कार्यों के बारे में पूरा हिसाब दूंगा। उन्‍होंने कहा कि मेरे लिए पंजाब सुरक्षा और हित सबसे सर्वोपरि है।

ड्रोन से ड्रग और हथियारों की तस्‍करी हो रही है। ड्रोन के रेंज में लगातार वृद्धि हो रही है और इससे पंजाब की सुरक्षा को खतरा है। सुरक्षा मामले पर किसी तरह की सियासत नहीं होनी चाहिए।       

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button