हार्ट मसल्स कमजोर होने का संकेत हैं ये लक्षण, इस तरह बनाएं मजबूत

Weak Heart Muscles Symptoms

आजकल छोटी उम्र में ही लोगों को दिल से जुड़ी समस्याएं हो रही हैं। ख़राब व अनियमित लाइफस्टाइल, खान-पान की गलत आदतें या वर्कआउट की कमी इसके कारण हो सकते हैं।

आपने आज तक हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट के बारे में तो कई बार पढ़ा और सुना होगा लेकिन क्या आप हार्ट मसल्‍स के कमजोर होने का असल कारण भी जानते हैं?

क्यों होती है हार्ट मसल्स कमजोर-

जब हार्ट कमजोर होता हैं तो हार्ट जल्‍दी-जल्‍दी ब्‍लड को पंप करने लगता है जिससे हार्ट की मसल्‍स पर जोर बढ़ता है और मसल्‍स कमजोर हो जाती हैं। इसका असर किडनी पर पड़ने से लो ब्‍लड फ्लो की समस्‍या के साथ पानी की कमी भी हो जाती है। इसकी वजह से दिल पर असर पड़ने लगता है।

हार्ट मसल्‍स कमजोर होने पर नजर आने वाले लक्षण-

-दिल की असामान्‍य धड़कन हार्ट कमजोर होने का संकेत हो सकती है।

-सांस लेने में समस्‍या होना दिल की मसल्‍स के कमजोर होने का लक्षण है।

-थकान या चेस्‍ट में पेन होना हार्ट मसल्‍स कमजोर होने का संकेत हो सकता है।

-ध्‍यान लगाने में दिक्‍क्‍त होना हार्ट मसल्‍स कमजोर होने का संकेत है।

-अगर आपको भूख कम लगती है तो ये भी संकेत है कि हार्ट मसल्‍स वीक हो रही हैं।

-जिन लोगों का वजन तेजी से बढ़ने की समस्‍या होती है उनकी हार्ट की मसल्‍स भी कमजोर हो सकती हैं।

हार्ट मसल्‍स कमजोर होने के कारण-

-कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने के कारण आर्टरी हार्ट और नैरो हो जाती हैं ऐसा होने पर हार्ट की मसल्‍स कमजोर हो सकती हैं।

-कोरोनरी आर्टरी डिसीज के कारण हार्ट की मसल्‍स कमजोर हो सकती हैं।

-हाई बीपी की समस्‍या भी हार्ट की मसल्‍स को कमजोर करने का कारण बन सकती है।

-मोटापे या धूम्रपान के कारण भी हार्ट की मसल्‍स कमजोर होने की समस्‍या हो सकती है।

हार्ट मसल्‍स को हेल्‍दी रखने के उपाय-

-दिल को सेहतमंद बनाए रखने के लिए रोजाना वर्कआउट करें।

-अपने कद और उम्र के अनुसार अपना वेट मेनटेन रखें।

-हार्ट मसल्‍स मजबूत बनाए रखने के लिए कोलेस्‍ट्रॉल लेवल कंट्रोल रखें।

-हार्ट हेल्‍दी रखने के लिए पर्याप्‍त मात्रा में 7 से 8 घंटे की नींद लें।

– तनाव से दूर रहने की कोशिश करें।

-अपनी डाइट में फाइबर रिच फूड्स, होल ग्रेन्‍स, नट्स आदि शामिल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button