PM Modi: काशी में प्रधानमंत्री का बनारसिया अंदाज, सबसे लम्बा भोजपुरी भाषण?

PM Modi In Varanasi: काशी नगरी में इस बार के 18 घंटे के दौरे में प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को काशीवासियों से भोजपुरी में सबसे लंबा संवाद किया। इसके साथ ही करखियांव में उन्होंने स्वीकार भी किया कि दस साल में बनारस हमके बनारसी बना देलेस।

इमेज क्रेडिट: सोशल मीडिया

वाराणसी आगमन के दौरान इस बार PM Modi का मिजाज पूरी तरह बनारसी नजर आया। अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन शुक्रवार को करखियांव में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार भोजपुरी में सबसे लंबा स्पीच दिया।

इस दौरान मंच से मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बात स्वीकार किया कि 10 साल पहले बनारस के लोगों ने उन्हें बनारस का सांसद बनाया। अब 10 साल में बनारस ने उनको बनारसी बना दिया।

प्रधानमंत्री ने काशी के पारंपरिक अंदाज में हर-हर महादेव के उद्घोष के साथ संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि काशी के धरती पर आज एक बार फिर आप लोगन के बीच आवे का मौका मिलल हौ…। जब तक बनारस नाहीं आइत, तब तक हमार मन नाहीं मानेला…। दस साल पहले आप लोग हमके बनारससांसद बनइला…। अब दस साल में बनारस हमके बनारसी बना देलेस…।

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी दलों पर भी भोजपुरी में ही हमला बोला। प्रधानमंत्री ने कहा कि ई बनारस हौ…। इहां सब गुरु हौ…। इहां इंडी गठबंधन के पैंतरा न चली…। बनारस ही नाहीं, पूरे यूपी के पता हौ कि माल वही हौ पैकिंग नया हौ। इसके पहले बीएचयू के स्वतंत्रता भवन में भी प्रधानमंत्री ने भोजपुरी में बोलते हुए कहा था कि जहां महादेव के कृपा हो जाला, उ धरती अपने ऐसे ही समृद्ध हो जाले…।

आज एक बार फिर काशी के हमरे परिवार के लोगन के लिए करोड़ों रुपया के योजना क लोकार्पण होत हौ…। शिवरात्रि और रंगभरी एकादशी से पहले काशी में आज विकास क उत्सव

मने जात हौ…। बाबा जौन चाह जालन, ओके के रोक पावेला…? एही लिए बनारस में जब भी कुछ शुभ होला लोग हाथ उठा के बोललन नम: पार्वती पतये, हर-हर महादेव…। बाबा विश्वनाथ की इ धरती, विश्व कल्याण के संकल्प क साक्षी भूमि बनी…।

Back to top button