आतंकियों को जेल से छुड़ाने के लिए लाल टोपी वालों को चाहिए सत्ता: पीएम मोदी

pm modi in gorakhpur

गोरखपुर (उप्र)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर में एम्स अस्पताल और खाद कारखाने समेत कई परियजनाओं का उद्घाटन कर पूर्वांचल को एक बार फिर से सौगात दी है। 10,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को पीएम नरेंद्र मोदी ने देश को सौंपा।

इसके साथ ही उन्होंने गोरखपुर से समाजवादी पार्टी पर भी जमकर निशाना साधा। बिना किसी का नाम लेते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने गहरा तंज कसते हुए कहा कि लाल टोपी वाले यूपी के लिए रेड अलर्ट हैं। इन्हें सिर्फ लाल बत्ती के लिए सत्ता चाहिए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आज पूरा यूपी जानता है कि लाल टोपी वालों को सिर्फ लाल बत्ती से मतलब रहा है। इन्हें माफियाओं को छूट देने के लिए, जमीन कब्जाने के लिए और आतंकियों को जेल से छुड़ाने के लिए सरकार चाहिए।’

पीएम मोदी ने कहा कि यूपी का गन्ना किसान नहीं भूल सकता है कि इससे पहले की सरकारों ने कैसे भुगतान के लिए रुला दिया था। पहले की सरकारों में हमने वह दिन भी देखे हैं, जब अनाज होते हुए भी गरीबों को नहीं मिलता था। अब हमारी सरकार ने गरीबों को राशन देने के लिए गोदाम खोल दिए हैं।

उन्होंने कहा, आज पहले की सरकारों की बेरुखी याद आती है। सब जानते थे कि गोरखपुर का खाद कारखाना कितना जरूरी था, लेकिन पहले की सरकारों ने इसे शुरू कराने में कोई रुचि नहीं दिखाई।

एम्स की जरूरत यहां हमेशा से थी, लेकिन 2017 से पहले जो सरकार चला रहे थे, उन्होंने इसके लिए जमीन देने के लिए भी तमाम बहाने बनाए। फिर बड़ी लंबी कवायद के बाद जमीन मिली है।

टाइमिंग पर सवाल उठाने वालों को मिला करारा जवाब

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह कार्यक्रम उन लोगों को भी करारा जवाब दे रहा है, जिन्हें टाइमिंग पर सवाल उठाने का बहुत शौक है।

ऐसे प्रोजेक्ट्स के पीछे बरसों की मेहनत और दिन रात का परिश्रम होता है। ये लोग नहीं समझेंगे कि कोरोना काल में भी डबल इंजन की सरकार विकास में जुटी रही और काम रुकने नहीं दिया।

योगी सरकार की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि लंबे समय से गोरखपुर समेत बड़ा क्षेत्र सिर्फ एक मेडिकल कॉलेज के भरोसे चल रहा था।

ऐसे में लोगों को इलाज के लिए बनारस या लखनऊ जाना पड़ता था। योगी सरकार ने इस क्षेत्र में जो काम किया है, उसकी चर्चा अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी हो रही है।

इस सदी की शुरुआत में था सिर्फ 1 एम्स, अब बन रहे हैं 16

उन्होंने कहा कि एम्स और आईसीएमआर रिसर्च सेंटर बनने से अब इंसेफलाइटिंस से मुक्त के अभियान को और मजबूती मिलेगी। इसके अलावा दूसरी बीमारियों से बचाव में भी यूपी को बहुत मदद मिलेगी।

किसी भी देश को आगे बढ़ने के लिए बहुत जरूरी है कि उसकी स्वास्थ्य सेवाएं सुलभ और सस्ती हों। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज यूपी 17 करोड़ कोरोना टीकों के पड़ाव पर पहुंच रहा है। देश भर में 16 नए एम्स बन रहे हैं।

भाजपा सरकार ने दूर किया खाद की कमी का संकट

खाद संकट दूर करने के लिए सरकार के उपायों की भी पीएम नरेंद्र मोदी ने जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमने खाद के संकट  को रोकने के लिए तीन सूत्रीय रणनीति बनाई। यूरिया का गलत इस्तेमाल रोका और नीम कोटिंग की। इसके अलावा किसानों को सॉइल हेल्थ कार्ड दिए।

तीसरी रणनीति यह थी कि हमने यूरिया उत्पादन केंद्रों को फिर से शुरू करने पर जोर दिया। इस अभियान के तहत हमने गोरखपुर में खाद कारखाना तैयार करने का फैसला लिया। ऐसे ही 4 और कारखाने देश के अन्य हिस्सों में बन रहे हैं।

गोरखपुर खाद कारखाने को शुरू कराने के लिए एक और भगीरथ काम हुआ है। इसके लिए ऊर्जा गंगा परियोजना को लाया गया है ताकि उत्पादन प्रभावित न हो। इससे यूपी के कई जिलों में पाइप से सस्ती गैस भी मिलने लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button