सेंधा नमक सिर्फ व्रत में ही नहीं, बल्कि सेहत के लिए भी है फायदेमंद

LOOSE Pink Himalayan rock salt, Dubai, Packaging Type: 50KG BAG, Rs 27  /container | ID: 22155077948
rock salt

नवरात्र व अन्य व्रत के दौरान सफेद नमक के विकल्प के तौर पर सेंधा नमक का सेवन किया जाता है, पर क्या आप जानते हैं सेंधा नमक का सेवन आपकी सेहत को कई लाभ पहुंचाता है।

जी हां, सेंधा नमक हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है।

सेंधा नमक को पहाड़ी नमक या लाहौरी नमक भी कहा जाता है।

हल्के गुलाबी रंग का यह नमक स्वाद में कम खारा होता है और आयोडीन फ्री होता है।

सेंधा नमक व्यक्ति को स्वस्थ रखने में मदद तो करता है।

सेंधा नमक के फायदे

इस नमक की मदद से हाई ब्लडप्रेशर की समस्या को कंट्रोल करने में काफी मदद मिल सकती है।

इसके अलावा यह कोलेस्ट्रॉल को भी कम करने में मदद करता है, जिससे हार्ट अटैक जैसे रोग का खतरा कम हो जाता है।

सेंधा नमक का सेवन करने से स्ट्रेस को कम किया जा सकता है,

क्योंकि यह नमक सेरोटोनिन और मेलाटोनिन हार्मोन्स का बैलेंस बनाएं रखता है जो तनाव से लड़ने में मदद करते हैं।

सेंधा नमक मांसपेशियों के दर्द और ऐंठन की समस्या के साथ ज्वाइंट्स पेन को भी कम करने में मदद करता है।

इस नमक के इस्तेमाल से इलेक्ट्रोलाइट्स के स्तर को संतुलित किया जा सकता है।

सेंधा नमक खनिज और विटामिन्स से भरा होता है, जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

इसके सेवन से पाचन से जुड़ी समस्याएं जैसे- बदहजमी, कब्ज, सीने में जलन व गैस से भी राहत मिलती है।

सेंधा नमक में मौजूद डिकंजेस्टेंट गुण गले में फंसे बैक्टीरिया युक्त बलगम को पतला कर उसे शरीर से बाहर निकालने में मदद कर सकते हैं।

यह खांसी की समस्या से भी राहत दिलाने में मदद करते हैं।

गले में खराश की समस्या दूर करने के लिए सेंधा नमक वाले गुनगुने पानी से गरारे करने से लाभ मिलता है। 

सेंधा नमक भूख को कुछ समय के लिए कम करके फैट बर्न करने में मदद कर सकता है।

आयुर्वेद में सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या दूर करने के लिए हिमालयन साल्ट इस्तेमाल करने की सिफारिश की गई है।

डिस्क्लेमर: उक्त आलेख सामान्य जानकारी पर आधारित है। अपनाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button