किसान आंदोलन का एक साल पूरा, आज पूरे देश में होगा विरोध प्रदर्शन

kisan andolan

नई दिल्ली। तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में शुरू हुए किसान आंदोलन को आज पूरा एक वर्ष पूरा हो गया है। किसान आंदोलन के अग्रणी संगठन संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने एक साल पूरा होने पर देश भर में विरोध-प्रदर्शन का आयोजन किया है।

एसकेएम के आधिकारिक बयान के मुताबिक हजारों किसान आज दिल्ली के आसपास विरोध स्थलों पर पहुंचेंगे। कर्नाटक में किसानों ने सड़कों पर आने का फैसला लिया है। इसके अलावा रांची और कोलकाता में भी विरोध प्रदर्शन आयोजित किया जाएगा।

SKM के मुताबिक कर्नाटक के सभी जिलों में लगभग 25 जगहों पर विरोध प्रदर्शन करने की योजना है। तमिलनाडु में ट्रेड यूनियनों के साथ संयुक्त रूप से सभी जिला मुख्यालयों में रैलियों की योजना है।

एसकेएम ने कहा रायपुर और रांची जैसे कई राज्यों की राजधानियों में ट्रैक्टर रैलियों की योजना बनाई जा रही है। कोलकाता में 26 नवंबर को विरोध कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

पटना में फार्म यूनियनों और ट्रेड यूनियनों कलेक्ट्रेट तक एक संयुक्त मार्च करेंगे और एक ज्ञापन सौंपेंगे। इस बीच, हजारों किसान ट्रैक्टर और राशन और अन्य आपूर्ति के साथ दिल्ली के आसपास मोर्चा स्थलों पर पहुंच रहे हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर को तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा की। इसके कुछ दिनों बाद ही केंद्रीय मंत्रिमंडल ने तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की औपचारिकता पूरी कर ली है।

इसके बावजूद किसानों का विरोध प्रदर्शन खत्म नहीं हुआ है। किसान संसद तक ट्रैक्टर मार्च निकालने की योजना बना रहे हैं।

भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की वैधानिक गारंटी के लिए दबाव बनाने को लेकर ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा। यह मार्च 29 नवंबर को होगा जिसमें 60 ट्रैक्टर राष्ट्रीय राजधानी में संसद पहुंचेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button