पीएम मोदी ने संविधान निर्माताओं सहित 26/11 के शहीदों को भी किया नमन

mumbai attack

नई दिल्ली। आज भारत अपना 72वां संविधान दिवस मना रहा है। इस मौके पर संसद में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। कांग्रेस समेत 14 विपक्षी दलों ने कार्यक्रम का बहिष्कार किया। 

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा हमारा संविधान सहस्त्रों वर्षों की महान परंपरा, अखंड धारा की अभिव्यक्ति है। इसलिए हमारे लिए संविधान के प्रति समर्पण और जब हम इस संवैधानिक व्यवस्था से जन प्रतिनिधि के रूप में ग्राम पंचायत से लेकर संसद तक जो भी दायित्व निभाते हैं।

हमें संविधान के भाव से अपने आप को सजग रखना होगा। संविधान को कहां चोट पहुंच रही है उसे भी नजर अंदाज नहीं कर सकते। 

पीएम मोदी ने कहा आज डॉ. आंबेडकर, राजेंद्र प्रसाद, पूज्य बापू को नमन करने का दिन है। आजादी के लिए जिन्होंने अपने आपको खपाया, उन सबको नमन करने का दिन है।

उन्होंने कहा आज 26/11 का ऐसा दुखद दिन भी है, जब दुश्मनों ने देश के भीतर आकर मुंबई में ऐसी आतंकवादी घटना को अंजाम दिया।

भारत के संविधान में सूचित देश के सामान्य मानवीय की रक्षा की जिम्मेदारी के तहत हमारे अनेक वीर जवानों ने आतंकियों से लोहा लेते-लेते सर्वोच्च बलिदान दिया। आज उन बलिदानियों को भी आदर पूर्वक नमन करता हूं। 

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि हमारे प्रगतिशील संविधान को देश विदेश हर जगह सम्मान की दृष्टि व प्रेरणा के श्रोत के रूप में देखा जाता है। हमारे संविधान ने नागरिकों के लिए न्याय की व्यवस्था की है। संसद में हम देश की 135 करोड़ जनता का प्रतिनिधित्व करते हैं।

यहां पर होने वाले चिंतन से जो अमृत निकलेगा, उसे आमजन के लिए प्रयोग में लाया जा सकता है, लेकिन जरूरी है कि संसद में हम मर्यादापूर्ण आचरण करें। कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की। इस अवसर पर उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button