भागवत और मुलायम की फोटो पर गरमाई सियासत, सपा ने कांग्रेस को दिया जवाब

mohan bhagwat mulayam singh

नई दिल्ली। उप्र विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र व्‍यक्तिगत आयोजन और मेल-मुलाकातें भी आरोप-प्रत्‍यारोप की वजह बनती जा रही हैं। ताजा मामला आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और सपा संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव की तस्‍वीर से जुड़ा है।

इस तस्‍वीर में दोनों एक ही सोफे पर एक साथ बैठे नज़र आ रहे हैं। कांग्रेस ने इस तस्‍वीर को लेकर समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है। वहीं सपा ने भी इस मामले में त्‍वरित जवाब देते हुए कांग्रेस को शिष्‍टाचार की नसीहत दे डाली।

भागवत के साथ मुलायम सिंह की तस्‍वीर में संघ प्रमुख केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल को बधाई देते हुए नजर आ रहे हैं। तस्वीर, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल ने ट्वीट की थी लेकिन थोड़ी ही देर बाद इस पर यूपी के सियासी गलियारों में आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया।

तस्‍वीर के सोशल मीडिया में वायरल होते ही लोग अर्जुन मेघवाल से ज्‍यादा मोहन भागवत और मुलायम सिंह यादव की चर्चा करने लगे। कांग्रेस ने इस तस्‍वीर को हाथोंहाथ लिया।

कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भागवत-मुलायम की तस्‍वीर ट्वीट करते हुए तंज में ये लिखा गया- “नई सपा” में ‘स’ का मतलब ‘संघवाद’ है? कांग्रेस का ये तंज सपा को चुभ गया है। सपा ने भी इसका जवाब देने में देर नहीं लगाई।

सपा के जवाबी ट्वीट में शरद पवार की तस्‍वीर ट्वीट करते हुए कांग्रेस पर राजनीतिक शिष्‍टाचार भूलने का आरोप लगाया गया।

ट्वीट में लिखा गया- ‘राजनीतिक शिष्टाचार भूल चुकी है कांग्रेस! जिस कार्यक्रम की तस्वीर लगा रही कांग्रेस उसी कार्यक्रम में कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी के नेताओं ने भी लिया नेताजी का आशीर्वाद। इस पर क्या कहेगी कांग्रेस?

विवाह समारोह में खींची गई थी तस्‍वीर

भागवत और मुलायम सिंह की जिस तस्‍वीर को लेकर सियासी हलकों में चर्चा गर्म है वो उपराष्‍ट्रपति वैंकेया नायडू के घर की है। यहां दोनों लोग विवाह समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे। इसी दौरान यह तस्‍वीर खींची गई।

दोनों नेताओं ने एक ही सोफे पर बैठकर नाश्‍ता किया। इस दौरान दोनों के बीच करीब 20 मिनट तक बातचीत भी हुई। थोड़ी देर बाद यह तस्‍वीर चर्चा का केंद्र बन गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button