चैलेंज को चुनें क्योंकि जो आराम चुनता है वो पीछे रहता है: पीएम मोदी

IIT-Kanpur Convocation

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज उप्र की औद्योगिक नगरी कानपुर पहुंचे। पीएम मोदी ने कानपुरवासियों को मेट्रो ट्रेन की सौगात दी। साथ ही आईआईटी के दीक्षांत समारोह में पीएम ने छात्रों को डिजिटल डिग्री व पदक भी प्रदान किए। 

PM Modi in Kanpur Metro

इस अवसर पर आईआईटी के के छात्रों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा आप कंफर्ट और चैलेंज में से चैलेंज को चुनें क्योंकि जो आराम को चुनता है वो पीछे रहता है। आपको ऐसा इंसान बनना है जो मुश्किलों को चुनकर उनका हल निकालता है।

उन्होंने कहा आप लगातार इनोवेशन में लगे रहते हैं। इन सबके बीच मेरा आप सबसे आग्रह है टेक्नोलॉजी की दुनिया में रहते हुए ह्युमन वैल्यू को मत भूलिएगा, रोबोट वर्जन मत बनिएगा। क्योरिसिटी को बनाए रखिएगा, इंटरनेट पर जरूर काम करिएगा लेकिन इमोशन को मत भूलिएगा।

ह्युमन इंटेलिजेंस को भी याद रखिएगा, लोगों के साथ अपना कनेक्ट बनाए रखिएगा। लोगों से जुड़ाव आपके व्यक्तित्व की ताकत बढ़ाएगा। ऐसा न हो कि जब इमोशन दिखाने का वक्त आए तो आपका दिमाग एचटीटीपी 404, पेज नॉट फाउंड दिखाए।

आजादी के बाद देश बहुत समय गंवा चुका है- पीएम

पीएम ने छात्रों से कहा, आजादी से अब तक देश बहुत समय गंवा चुका है, दो पीढ़ियां निकल गईं, अब हमें एक पल भी नहीं गंवाना है। आपको मेरी बातों में अधीरता नजर आती होगी मैं चाहता हूं कि आप भी ऐसे ही अधीर बनें और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करें।

स्वामी विवेकानंद ने कहा है, यदि हम आत्मनिर्भर नहीं होंगे तो हमारा लक्ष्य कैसे पूरा होगा, देश अपनी डेस्टिनी तक कैसे पहुंचेगा।

पीएम ने कहा, मेरा भरोसा है कि आप ऐसा कर सकते हैं। आपको ही करना है, आप ही करेंगे, ये अनंत संभावनाएं आपके लिए हैं आप ही इसे संभव करेंगे। आप ये भलिभांति जानते हैं कि बीते वर्षों में किस तरह देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए देश ने कैसा काम किया है जिससे आपका काम आसान हो।

पीएम ने कहा देश युवाओं के लिए तमाम योजनाओं के जरिए रास्ते बना रहा है। इज ऑफ डूइंग बिजनेस को सुधारा जा रहा है। आज हमारे पास 75 से अधिक यूनिकॉर्न्स हैं। 50 हजार से ज्यादा स्टार्टअप है। आज भारत दुनिया का स्टार्टअप हब बनकर उभरा है।

हाल में आई एक रिपोर्ट के अनुसार भारत दुनिया के कई देशों को पीछे छोड़कर तीसरे नंबर का यूनिकॉर्न बन गया है। जो आईआईटी को जानता है जो यहां के टैलेंट को जानता है, वो जानता है कि ये कुछ भी करेंगे। मैं विश्वास दिलाता हूं कि सरकार हर तरह से आपके साथ है। 

आईआईटी कानपुर के कामों की पीएम ने की सराहना

पीएम ने कहा कि 5जी टेक्नोलॉजी में तो आईआईटी कानपुर का काम ग्लोबल स्टैंडर्ड का बन गया है। ऐसे में आपका काम कई गुना बढ़ गया है। एनर्जी सेविंग से लेकर हर खेल जैसे क्षेत्र तक में आपका काम बढ़ गया है। आज जो बड़ी संभावनाएं हैं वो आपके लिए हैं,

यहां सिर्फ आपके लिए देश के प्रति जिम्मेदारी ही नहीं बल्कि अपने सपनों को पूरा करने का अवसर भी है। आज आप 21वीं सदी के जिस कालखंड में हैं वो बड़े लक्ष्यों को तय करने और उन्हें पाने के लिए पूरी मेहनत करने का है। आज समस्याओं के समाधान के लिए संकल्प लिए जाते हैं वो भी स्थायी। आत्मनिर्भर भारत इसका बड़ा उदाहरण है।

आप आईआईटी की लीगेसी साथ लेकर निकल रहे हैं

पीएम ने कहा कि आपने यहां आईआईटी की लीगेसी को जिया है। भारत के वर्तमान और इतिहास को जिया है। आज आप अपने उज्ज्वल भविष्य की शुरुआत कर रहे हैं। आज मैं ये भी कहूंगा मेरी आपसे यही कामना रहेगी कि इस साल भारत ने अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश किया है।

आजादी की लड़ाई में कानपुर का अपना योगदान रहा है। एक छोर से दूसरे छोर तक अगर सैर करें तो ऐसा लगता है कि हम आजादी के संग्राम की सैर कर रहे हैं।

देश को गति देने का दायित्व आपका है। 1930 में जब दांडी यात्रा शुरू हुई थी तो उसने उस समय पूरे देश को कितना आंदोलित किया था, तब उसने भारत के जन-जन में अभूतपूर्व विश्वास भर दिया।

आज आप भी उन जैसे गोल्डन एरा में कदम रख रहे हैं। ये आपके जीवन का अमृतकाल है। अमृत महोत्सव की इस घड़ी में जब आईआईटी से निकलें तो 2047 का भारत कैसा होगा इसका सपना लेकर निकलें। जब आप अपने जीवन के 50 साल पूरा कर रहे होंगे उसके लिए आपको काम करना होगा।

मुझे पता है कि आईआईटी कानपुर के माहौल ने आपको ऐसी ताकत दी है कि आपको अपने सपने पूरे करने से कोई रोक नहीं सकता। ये पूरी सदी टेक्नोलॉजी ड्रिवेन है। 

पीएम ने दी छात्रों को बधाई

पीएम ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, आज कानपुर के लिए दोहरी खुशी का दिन है। एक तो कानपुर को मेट्रो मिल रही है दूसरा आईआईटी कानपुर से आप जैसे होनहार युवा मिल रहे हैं। आज जिन छात्रों को सम्मान मिला है उन्हें भी बहुत बहुत बधाई।

आप आज जहां पहुंचे हैं, जो योग्यता हासिल की है उसके पीछे आपके माता-पिता, टीचर्स, प्रोफेसर जैसे अनगिनत लोग होते हैं। उन सबकी बहुत मेहनत रही है, कुछ न कुछ योगदान रहा है।

मुख्यमंत्री ने आईआईटी के सहयोग की सराहना की

समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आईआईटी के सहयोग की सराहना की। साथ ही कहा कि सरकार 5 सालों में 250 स्टार्टअप को बढ़ावा देगी।

दीक्षांत समारोह में संस्थान के छात्र-छात्राओं को पहली बार डिजिटल डिग्री प्रदान की गई। यह डिग्री संस्थान में विकसित ब्लॉकचेन संचालित तकनीक के माध्यम से प्रदान की गई। इस डिजिटल डिग्री को वैश्विक स्तर पर सत्यापित किया जा सकता है।

इस ब्लॉकचेन आधारित डिजिटल डिग्री का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। पीएम के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पुरी भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button