मुलाकात से तिलमिलाई कांग्रेस ने कहा- सत्ता के मठाधीशों के अहंकार को पहुंची ठेस

नई दिल्ली। बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की मुलाकात से कांग्रेस तिलमिला उठी है।

इस मुलाकात पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पंजाब में एक दलित को मुख्यमंत्री बनाने पर सत्ता में बैठे मठाधीशों के अहंकार को ठेस पहुंची है।

गृहमंत्री अमित शाह पर सीधा हमला बोलते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि दलित विरोधी राजनीति का केंद्र और कहीं नहीं, अमित शाह जी का निवास बना हुआ है।

सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘सत्ता में बैठे मठाधीशों के अहंकार को ठेस पहुंची है, क्योंकि एक दलित को मुख्यमंत्री बना दिया तो वो पूछते हैं कि कांग्रेस में फ़ैसले कौन ले रहा है? दलित को सर्वोच्च पद दिया जाना उन्हें रास नहीं आ रहा। दलित विरोधी राजनीति का केंद्र और कहीं नहीं, अमित शाह जी का निवास बना हुआ है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘अमित शाह जी व मोदी जी पंजाब से प्रतिशोध की आग में जल रहे हैं। वे पंजाब से बदला लेना चाहते हैं क्योंकि वे किसान विरोधी काले कानूनों से अपने पूंजीपति साथियों का हित साधने में अब तक नाकाम रहे हैं। भाजपा का किसान विरोधी षड्यंत्र सफल नहीं होगा।’

बता दें कि पंजाब में जारी सियासी घमासान के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह बुधवार शाम को अमित शाह से मिलने उनके आवास पहुंचे थे।

कांग्रेस में खुद को ‘अपमानित’ महसूस किए जाने का दावा करके पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह और अमित शाह के बीच करीब 45 मिनट तक बातचीत हुई।

इस मुलाकात के साथ ही सियासी अटकलें तेज हो गई हैं। मुलाकात के बाद अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार की तरफ से कहा गया, ‘दिल्ली में कैप्टन अमरिंदर सिंह की केंद्रीय मंत्री अमित शाह से मुलाकात हुई है।

मुलाकात के दौरान लंबे समय से चल रहे किसानों के आंदोलन और कृषि कानूनों पर चर्चा हुई। पूर्व सीएम ने केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया है कि वो जल्द से जल्द इस कानून को वापस लें और एमएसपी की गारंटी दें।’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कैप्टन अमरिंदर सिंह की जल्द ही अमित शाह के साथ दूसरे दौर की वार्ता हो सकती है। पीएम मोदी से भी मिलने की संभावना है, जिसमें अंतिम दौर की बात होगी।

पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के साथ लंबे समय तक चली तनातनी के बाद कैप्टन ने आंतरिक कलह से परेशान होकर अपना इस्तीफा दिया था। ऐसा कहा जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह कृषि कानूनों पर चल रहे विवाद का हल निकाल कर बीजेपी में एंट्री मार सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button