मानसून में ज्यादा होता है वेजाइनल इंफेक्शन का खतरा, करें टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल

tea tree oil

वेजाइनल इंफेक्शन या योनि में संक्रमण सभी उम्र की महिलाओं में आम है। यह मूल रूप से एक प्रकार का संक्रमण है जो आपके योनि क्षेत्र में होता है। जब संक्रमण के इलाज की बात आती है, तो कई घरेलू उपचार उपलब्ध हैं।

टी ट्री एसेंशियल ऑयल भी इसी सूची में हैं। टी ट्री एसेंशियल ऑयल में शक्तिशाली जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुण होते हैं, जो आपके योनि स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं।

वेजाइनल इंफेक्शन और टी ट्री एसेंशियल ऑयल

वेजाइनल इंफेक्शन एक स्पष्ट संकेत है कि आपकी योनि को देखभाल की आवश्यकता है।

टी ट्री ऑयल के लाभकारी गुण योनि की समस्याओं का भी इलाज कर सकते हैं।

टी ट्री ऑयल एक एसेंशियल ऑयल है जिसमें एंटीफंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं।

यह संक्रमण को ठीक कर सकता है, जो बैक्टीरिया के कारण होता है।

टी ट्री ऑयल अपने एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के लिए भी जाना जाता है।

यह आपकी योनि में फंगस के विकास को रोकते हैं और आपकी योनि को मॉइस्चराइज भी रख सकते हैं।

इससे खुजली और जलन नहीं होगा। कुल मिलाकर टी ट्री ऑयल संक्रमण के इलाज के लिए पूरी तरह से सुरक्षित उपाय है।

ऐसे करें टी ट्री ऑयल का उपयोग

वॉटर

एप्सम सॉल्ट

15-20 बूंद टी ट्री ऑयल

इस्तेमाल करने का तरीका

आधा टब गुनगुना पानी लें।

पानी के साथ आधा चौथाई कप एप्सम सॉल्ट मिलाएं।

अब पानी में टी ट्री ऑयल की बूंदें डालें।

अपने शरीर के निचले आधे हिस्से को पानी में भिगो दें। 15 मिनट तक रहें।

त्वरित परिणामों के लिए प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएं।

योनि के स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने के टिप्स

बेहतर वायु प्रवाह के लिए सांस लेने वाले सूती अंडरवियर पहनें।

यह आपकी योनि को शुष्क और नीचे हवादार रहने देगा।

डूशिंग का प्रयोग न करें, क्योंकि यह आपकी योनि के पीएच संतुलन को बाधित कर सकता है।

संक्रमण की संभावना को कम करने के लिए मसालेदार भोजन खाने से बचें।

हाइड्रेटेड रहने के लिए पानी पिएं।

इस तरह आप योनि के पीएच स्तर को संतुलित कर सकती हैं, जिससे योनि में संक्रमण का खतरा कम हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button