उप्र पुलिस ने ट्विटर पर बढ़ाया दबाव, कहा- थाने में पेश हों ट्विटर इंडिया के एमडी

मुस्लिम बुजुर्ग से मारपीट का मामला

नई दिल्ली/गाजियाबाद। गाजियाबाद के लोनी इलाके में बुजुर्ग शख्स की पिटाई मामले में ट्विटर के आधे-अधूरे जवाब से उप्र पुलिस के तेवर सख्त हो गए हैं।

पुलिस ने इस बाबत सोमवार शाम दोबारा नोटिस भेजकर ट्विटर इंडिया के एमडी को 24 जून की सुबह साढ़े दस बजे तक लोनी बॉर्डर थाने में उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने नोटिस में चेतावनी दी कि पेश नहीं होने पर मुकदमा चलाया जा सकता है। बता दें कि वीडियो वायरल करने के मामले में पुलिस ने ट्विटर की दो कंपनियों और एक मीडिया संस्थान समेत नौ लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

एक मीडिया संस्थान को ट्विटर पर किए गए पोस्ट के मसले पर नोटिस भेजा जा चुका है और बाकी सभी को जल्द ही भेज दिया जाएगा।

वहीं सौहार्द बिगाड़ने के आरोपी उम्मेद पहलवान को गाजियाबाद स्पेशल कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। गौरतलब है कि 5 जून को गाजियाबाद के लोनी में बुजुर्ग की पिटाई हुई थी।   

पुलिस को ट्विटर ने जवाब तो दिया लेकिन उसमें कोई जानकारी नहीं थी। ट्विटर के अनुसार वह सभी पोस्ट की जांच करने में सक्षम नहीं है।

ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी ने ई-मेल के जरिये भेजे जवाब में कहा कि वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पुलिस की जांच में सहयोग करना चाहते हैं।

मैनेजिंग डायरेक्टर ने यह भी कहा कि विवाद वाले मामले से हमारा कोई लेना देना नहीं है और हम इस विषय को डील नहीं करते हैं।

गाजियाबाद पुलिस ट्विटर इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर के जवाबों से संतुष्ट नहीं है। पुलिस क्षेत्रधिकारी अतुल कुमार सोनकर ने कहा कि ट्विटर ने जवाब भेजकर पल्ला झाड़ने का प्रयास किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button