मिलिए कलयुग के ‘कुंभकरण’ से, लगातार इतने दिनों तक सोता है यह शख्स

कुंभकरण की प्रतीकात्मक तस्वीर

नागौर (राजस्थान)। देर तक सोने के लिए हमेशा रामायण के एक पात्र कुंभकरण का उदहारण दिया जाता है। कहा जाता है कि कुंभकरण 6 माह तक सोता था लेकिन क्या वास्तव में कोई कुंभकरण जैसी लंबी नींद ले सकता है?

जी हां, राजस्थान में एक ऐसा शख्स मिला है जिसने कुंभकरण को भी पीछे छोड़ दिया है। वह लगातार 10 महीने यानी 300 दिनों तक सोता रहता है।

राजस्थान के नागौर का रहने वाला 42 साल का पुरखाराम 300 दिन सोता है और बाकी का समय अपना छोटा मोटा काम कर गुजारा करता है।

ये कोई सामान्य बात नहीं है। दरअसल, इस व्यक्ति को एक खास तरह की बीमारी है जिसकी वजह से उसकी ये हालत है।

पुरखाराम नित्य क्रिया के काम भी ज्यादातर नींद में ही करते हैं। वे साल में लगभग 300 दिन तक सोते हैं। इस दौरान उनके खाने से लेकर नहाना, सब कुछ नींद में ही होता है।

अचानक ज्यादा बढ़ गई सोने की बीमारी

पुरखाराम की गांव में ही किराने की दुकान है। साल 2015 से उनकी ये बीमारी ज्यादा बढ़ गई और वे अचानक ही एक दिन में 18-18 घंटे सोने लगे।

कई बार उनकी दुकान के बाहर कितने अखबार पड़े हैं, इससे अंदाजा लगाया जाता है कि वे कितने दिन सो लिए हैं।

एक बार सोए तो उठाना मुश्किल

पुरखाराम एक बार सो जाएं तो उठाना लगभग नामुमकिन हो जाता है। घर वाले नींद में ही खाना उनको खिलाते हैं।

जब बाथरूम जाना होता है तो नींद में ही वे बेचैन हो जाते हैं और उन्हें उठाकर परिवार वाले बाथरूम ले जाते हैं।

पुरखाराम की नींद का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल सका है, लेकिन उनकी माता कंवरी देवी और पत्नी लिछमी देवी को उम्मीद है कि जल्द ही वे ठीक हो जाएंगे। शुरुआती दौर में 5 से 7 दिनों के लिए सोते थे, लेकिन अब यह महीनों में बदल गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button