उत्तराखंड के अगले सीएम पर गहन विचार, एक्टिंग CM धामी ने कही यह बात

CM Pushkar Singh Dhami

देहरादून। उत्तराखंड का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? इस पर चर्चाओं का बाजार बहुत गर्म है। विधानसभा चुनाव में सीएम पुष्कर सिंह धामी के खटीमा सीट से हार के बाद अब भाजपा विधायकों ने लॉबिंग शुरू कर दी है। कई विधायक सहित सांसद भी मुख्यमंत्री की रेस में शामिल हैं।

इस बीच कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भाजपा हाईकमान ही उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लगाएगी। कहा कि उत्तराखंड की कमान किसे हाथों में दी जाएगी इसपर केंद्रीय नेतृत्व गहनता से विचार कर रहा है। विधायक दल की बैठक के बाद ही मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की जाएगी।

धामी के हारने के बाद करीब आधा दर्जन विधायकों ने उनके लिए सीट छोड़ने की भी पेशकश कर डाली है। ऐसे में अब यह देखना बहुत ही ज्यादा दिलचस्प होगा कि भाजपा हाईकमान धामी पर दोबारा भरोसा जताती है या फिर विधायकों के बीच में से ही किसी को उत्तराखंड की कमान सौंपती है।

20  मार्च तक मुख्यमंत्री के नाम की हो सकती है घोषणा

उत्तराखंड का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर भाजपा हाईकमान  20 मार्च तक मुहर लगा सकती है। हाईकमान ने भाजपा के सभी निर्वाचित विधायकों को होली के बाद देहरादून में रहने की सख्त हिदायत दी है।

चुनाव में प्रचंड बहुमत के बाद भी हाईकमान ने नेता सदन की चयन प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं की है। समझा जा रहा है कि 17 मार्च तक होलाष्टक होना इसका मुख्य कारण है।

मुख्यमंत्री चयन के लिए भाजपा हाईकमान भी काफी सतर्क है ताकि पिछली बार की तरह तीन-तीन मुख्यमंत्री बदलने जैसी स्थिति न पैदा हो। हाईकमान सभी विकल्पों पर गहनता से विचार कर रही है।

भाजपा हाईकमान के पास तीन विकल्प

उत्तराखंड में अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के पास तीन विकल्प हैं। सूत्रों की मानें तो पहला विकल्प कार्यवाहक सीएम पुष्कर सिंह धामी को रिपीट करने का होगा।

दूसरे विकल्प के तौर पर भाजपा निर्वाचित विधायकों में से ही किसी विधायक को उत्तराखंड का अगला मुख्यमंत्री बना सकते हैं।

जबकि, तीसरे विकल्प में भाजपा विधायकों से बाहर किसी सांसद को मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी भी सौंप सकती है।

इन विधायकों-सांसदों के बीच चल रही दौड़

उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर विधायकों के बीच जमकर दौड़ चल रही है। लोकसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करने वाले सांसद भी रेस में शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक सतपाल महाराज, धन सिंह रावत दौड़ में प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक का नाम भी उछल रहा है।

सांसदों में पूर्व सीएम डा. रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय राज्यमंत्री अजय भट्ट और सांसद अनिल बलूनी के नामों पर भी चर्चा हो रही है। मुख्यमंत्री पद पर आखिरी फैसला भाजपा हाईकमान ही लेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button