अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र पहुंचे सीएम योगी, बिजोरा गांव में लोगों से की मुलाकात

cm yogi in gonda

लखनऊ। कोरोना के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को गोंडा, आजमगढ़ और वाराणसी पहुंचे। गोंडा में कोरोना से निपटने के लिए किए गए प्रबंधों का जायजा लेने के बाद मुख्यमंत्री आजमगढ़ पहुंचे।

cm yogi in gonda

यहां उन्होंने सबसे पहले जीजीआईसी स्कूल में बने कोविड-19 सेंटर का किया निरीक्षण किया। फिर मुख्यमंत्री ने सीएम ने बिजोरा गांव में पहुंचकर पंचायत प्रतिनिधियों और ग्रामीण क्षेत्र स्क्रीनिंग के लिए गठित निगरानी समिति से वार्ता की।

cm yogi in gonda

इसके बाद मुख्यमंत्री बिजोरा गांव के नवनिर्वाचित प्रधान रितेश सिंह से मिले। रितेश सिंह से बात करते हुए सीएम ने पूछा, कितने वोट से जीते हैं? कल शपथ ग्रहण है? यह सवाल करते हुए सीएम ने गांव के प्रधान से रितेश से कहा सभी से मिलकर,

cm yogi in azamgarh

बिना भेदभाव के कार्य करें। जिसने वोट दिया और जिसने नहीं दिया, सबको राशन वितरण का लाभ और महामारी से बचने की दवाइयों सहित वैक्सीन के लिए प्रोत्साहित करें। यह कहने के बाद सीएम ने आशा कार्यकत्री से वार्ता की एवं उनसे गांव में किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली।

कोरोना संक्रमण की परवाह न करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आजमगढ़ पहुंचने पर बड़ी संख्या में लोग उन्हें देखने पहुच गए। मुख्यमंत्री पिछले करीब 24 दिन से पूरे प्रदेश में ताबड़तोड़ दौरे करके मंडलों और जिलों की समीक्षा कर रहे हैं।

इसी क्रम में मुख्यमंत्री दो दिन पूर्व ही समाजवादी पार्टी के गढ़, इटावा सैफई का दौरा किया था। सीएम योगी पहले गैर सपाई मुख्यमंत्री थे जिन्होंने सैफई का दौरा किया था। उसके बाद आज मुख्यमंत्री आजमगढ़ पहुंच गए। आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव सांसद हैं।

इसी क्रम में मुख्यमंत्री दो दिन पूर्व ही समाजवादी पार्टी के गढ़, इटावा सैफई का दौरा किया था। सीएम योगी पहले गैर सपाई मुख्यमंत्री थे जिन्होंने सैफई का दौरा किया था। उसके बाद आज मुख्यमंत्री आजमगढ़ पहुंच गए। आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव सांसद हैं।

कोरोना महामारी के सेकेंड वेव में दौरान सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अब तक अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा नही किया है। जिस क्षेत्र की जनता ने अखिलेश यादव को बड़े उम्मीद से जिताकर संसद भेजा, उस क्षेत्र के प्रति अखिलेश यादव की उदासीनता से लोगों में काफी रोष है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button