भारत ने विश्व को दिया कालगणना का अद्वितीय सिद्धांत: हर्षवर्धन अग्रवाल

harshvardhan agrwal

लखनऊ। हिन्दू नव वर्ष नव संवत्सर (विक्रम संवत 2079) की पूर्व संध्या पर हेल्प यू एजूकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट के सेक्टर 25 इंदिरा नगर स्थित कार्यालय में ट्रस्ट के प्रबंध न्यासी हर्षवर्धन अग्रवाल तथा ट्रस्ट की न्यासी श्रीमती (डॉ.) रूपल अग्रवाल ने दीप प्रज्ज्वलित करके भारत माता के चित्र पर माल्यार्पण किया तथा पुष्प अर्पित करके हिन्दू नववर्ष मनाया।

हर्षवर्धन अग्रवाल ने सभी लोगों को हिन्दू नववर्ष तथा नवरात्रि की बधाई देते हुए कहा कि भारत ने विश्व को कालगणना का एक अद्वितीय सिद्धांत प्रदान किया है।

उन्होंने कहा आज ही के दिन भगवान् ब्रह्मा जी ने सृष्टि की संरचना के साथ साथ काल चक्र का निर्धारण तथा ग्रहों और उपग्रहों की गति का भी निर्धारण किया था।

हर्षवर्धन अग्रवाल ने कहा हमारे देश में नव संवत्सर का प्रारंभ विक्रम संवत के आधार पर चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से स्वीकार किया जाता है और पाश्चात्य संस्कृति की दृष्टि से पहली जनवरी को नववर्ष का शुभारम्भ होता है।आज के कालखंड में हमें दोनों ही दृष्टि से विचार करना चाहिए।

इस अवसर पर ट्रस्ट के कार्यालय में संचालित सिलाई कौशल प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहीं महिलाएं/कन्याएं तथा ट्रस्ट के स्वयंसेवकों की उपस्थिति रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button