भारत का मैनचेस्टर कहा जाता था कानपुर, फिर लाएंगे वही गौरव: MLC ए. के. शर्मा

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधान परिषद सदस्य ए. के. शर्मा ने जूम ऐप के माध्यम से कानपुर जनपद के प्रोफेसर एवं छात्र नेताओं से वर्चुअल संवाद किया।

इस दौरान हमारा यूपी विषय पर ए.के. शर्मा ने वार्तालाप करते हुए कानपुर से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर व्यापक परिचर्चा की।

ए. के. शर्मा ने अपने सम्बोधन में कहा कि कानपुर को कभी भारत का मैनचेस्टर कहा जाता था लेकिन जितना विकास होना चाहिए था उतना नहीं हो पाया।

उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था की एक दौर में मिसाल दी जाती थी लेकिन पिछली सरकारों ने सूबे की शिक्षा व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया।

ए. के. शर्मा ने कहा ऐसे लोग इस राज्य के साथ – साथ मानवता के अपराधी हैं जिन्होंने शिक्षा व्यवस्था को ध्वस्त करने का कार्य किया।

उन्होंने कहा मैंने कभी कानपुर को खुद से अलग नहीं समझा है इसलिए अपनी विधायक निधि से कानपुर में रोड बनवाने के लिए धन आवंटित किया है एवं कानपुर में लॉजिस्टिक पार्क बनवाने के लिए भारत सरकार से बात भी की। कानपुर का गौरव पुनः स्थापित किया जाएगा।

भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सबके साथ, सबके विकास के दिशा में सदैव कार्य किया है एवं समाज के अन्तिम तबके के विकास के लिए कार्य किया है।

इस दौरान प्रोफेसर लोगों ने ए. के. शर्मा से वर्चुअल जुड़ने के लिए सौभाग्य की बात कही एवं बहुतों ने खुद को इलाहाबाद विश्वविद्यालय का छात्र बताया।

एक प्रोफेसर ने कहा कि वर्तमान की सरकार ने बिना किसी भेदभाव के कार्य किया है एवं नई शिक्षा नीति आमजन के लिए वरदान साबित हुई है।

कार्यक्रम के समापन में ए. के. शर्मा ने सबका हृदयतल से आभार व्यक्त किया एवं भारतीय जनता पार्टी सरकार बनवाने की मुहिम में सबसे जुट जाने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button