लखीमपुर हिंसा: पांच हजार पेज की चार्जशीट दाखिल, आशीष मिश्रा मुख्य आरोपी

लखीमपुर कांड (फाइल फोटो )

लखनऊ। पिछले साल तीन अक्टूबर को उप्र के लखीमपुर खीरी जनपद के तिकुनियां में उपद्रव के बाद हुई हिंसा में चार किसान सहित आठ लोगों की मौत हो गई थी। अब इस मामले में आज सोमवार को चार्जशीट दाखिल की गई।

लखीमपुर खीरी हिंसा के 88 दिन बाद दाखिल इस चार्जशीट में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा उर्फ टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को मुख्य आरोपी बताया गया है।

केस की जांच कर रही एसआइटी ने जो चार्जशीट दाखिल की है, वह पांच हजार पन्नों की है। इसमें बताया गया है कि आशीष मिश्रा मोनू घटनास्थल पर मौजूद था। आरोप और विवेचना के दौरान दर्ज किए गए बयानों पर लोगों की नजरें टिकी थीं।

सीजेएम चिंताराम की कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में पुलिस ने 17 लोगों को आरोपी बनाया है। इनमें से मुख्य आरोपित आशीष मिश्रा मोनू तथा 14 लोग गिरफ्तार कर जेल भेजे गए हैं। अन्य तीन की मौत हो गई है। केस में पुलिस 208 गवाह भी कोर्ट में पेश करेगी।

विवेचक इंस्पेक्टर विद्याराम दिवाकर ने सोमवार को चार्जशीट दाखिल की है। एसपीओ एसपी यादव ने आरोप पत्र दाखिल होने की पुष्टि की है।

क्या था मामला

गौरतलब है कि तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी के थाना तिकुनियां क्षेत्र में हिंसा के दौरान एक पत्रकार समेत चार किसानों की वाहन से रौंदकर हत्या कर दी गई थी।

घटना के दूसरे दिन बहराइच के कोतवाली नानपारा निवासी जगजीत सिंह की तहरीर पर थाना तिकुनियां में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ के पुत्र आशीष मिश्रा समेत 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ बलवा, हत्या, दुर्घटना व हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था।

सात अक्टूबर को कांड से जुड़े आरोपित लवकुश राणा व आशीष पांडेय को एसआइटी की टीम ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

नौ अक्टूबर आशीष मिश्रा अधिवक्ता के साथ एसआइटी के सामने बयान दर्ज कराने पुलिस लाइन पहुंचे थे। जहां 12 घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button