वाराणसी में पुनः बांटे जाएंगे अक्षयपात्र राशन किट, भाजपा के सह प्रदेश प्रभारी ने की शुरुआत

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अक्षयपात्र के दस हजार राशन किट पुनः बांटे जाएंगे।

उप्र भाजपा के सह प्रभारी सुनील भाई ओझा ने आज पीएमओ कार्यालय के प्रभारी शिवसरन पाठक, अक्षयपात्र के भरतसभा दास, नवीन नीरव दास, स्वामी अनंत दास, अक्षय पात्र के एजीएम ऑपरेशन दिनेश कुमार शर्मा व मिर्जापुर के चेयरमैन मनोज जयसवाल की मौजूदगी में इसकी शुरुआत की।

लखनऊ के बंथरा नगर पंचायत के सफाई कर्मचारियों को प्रदेश सरकार के मंत्री महेश गुप्ता के हाथों कल राशन किट वितरण के बाद आज वाराणसी में राशन किट का वितरण किया गया। अक्षयपात्र का राशन व भोजन बांटने का अभियान जारी है।

कोविड संक्रमण को देखते हुए अक्षय पात्र लखनऊ में जहां बलरामपुर हॉस्पिटल, केजीएमयू, सिविल, पीजीआई, लोहिया, लोकबंधु, आस्था व फातिमा अस्पताल के साथ कोविड सेंटर लालबाग में प्रतिदिन मरीजों के तीमारदार को भोजन उपलब्ध करा रहा है वही वाराणसी के बीएचयू व कबीर चौरा हॉस्पिटल में भी भोजन वितरण किया जा रहा है।

यही नहीं लखनऊ के चारबाग, केडी सिंह बाबू स्टेडियम व अटल बिहारी वाजपई इकाना स्टेडियम के साथ काकोरी व सरोजनी नगर ब्लॉक में भी गरीबों व श्रमिकों को भोजन दिया जा रहा है। लखनऊ में प्रतिदिन 16500 लोगों को अक्षयपात्र भोजन करा रही है।

वाराणसी के बीएचयू व कबीर चौरा अस्पताल में भी एक-एक हजार लोगों को भोजन दिया जा रहा है। इसी प्रकार गोरखपुर में पंद्रह सौ लोगों को प्रतिदिन अक्षय पात्र द्वारा भोजन दिया जा रहा है। भोजन के साथ राशन किट भी गरीबों में वितरित किए जा रहे हैं।

लखनऊ में पिछले माह पांच हजार राशन किट बांटने के बाद इस माह जुलाई में भी 6 हजार पांच सौ राशन किट बांटे जाएंगे।

वाराणसी में भी इस माह जुलाई में 11हजार राशन किट बांटे जाएंगे तथा 60 हजार  लोगों को भोजन वितरित किया जाएगा। अयोध्या में 562 व गोरखपुर में दो हजार राशन किट का वितरण गरीबों में किया जा चुका है।

अक्षयपात्र फाउंडेशन द्वारा राजधानी लखनऊ के साथ वाराणसी, मथुरा, अयोध्या, प्रयागराज, कानपुर, कन्नौज, बहराइच, गाज़ीपुर व सीतापुर के नैमिषारण्य सहित कई जिलों में राशन किट बांटा जा चुका है।

कोरोना संकट काल में अक्षयपात्र फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष चंचलापति प्रभु के मार्गदर्शन में यह कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया है। उनके अनुसार अक्षयपात्र संस्था की कोशिश रहती है कि देश मे कही कोई भूखा न रहे।

पिछले लॉकडाउन के समय मे अक्षयपात्र फाउंडेशन केवल उप्र ही नहीं उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, दादरा और नगर हवेली, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक, मप्र, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना व त्रिपुरा आदि में भी जरूरतमंदों को भोजन तथा राशन देने का काम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button