खूबसूरत बाल पाने के लिए इस्तेमाल करें नीम के लकड़ी की कंघी, जानें फायदे

Neem Wood Comb

खूबसूरत और हेल्दी बाल पाने के लिए लोग कई तरीके अपनाते हैं। आपने भी हेल्दी बालों के लिए हेयर मास्क, हेयर स्पा, हेयर सप्लीमेंट और क्या-क्या नहीं किया होगा, लेकिन क्या आपने कभी अपनी कंघी पर ध्यान दिया है? अगर नहीं तो आज ही दें।

अगर आप आजतक प्लास्टिक की कंघी का इस्तेमाल करते आ रहे थे, तो अब वक्त आ गया है कि इसे बदला जाए। लकड़ी की कंघी आपके बालों की सेहत पर कई तरह से बदलाव ला सकती है।

लकड़ी की कंघी यूज़ करने पर बालों में घर्षण कम होता है जिससे बाल कम टूटते हैं। इस कंघी से बाल ऑयली भी कम होते हैं। खासतौर पर अगर आप नीम की लकड़ी से बनी कंघी का इस्तेमाल करेंगी, तो खुद ही बालों के साथ स्कैल्प में फर्क देखेंगी।

तो आइए जानें नीम की कंघी के फायदे

डैंड्रफ से मिलेगा छुटकारा

नीम, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-सेप्टिक होती है, जिसके नियमित इस्तेमाल से स्कैल्प का इंफेक्शन ख़त्म हो सकता है। खासतौर पर रूसी की समस्या। नीम की एंटीफंगल गुण आपके स्कैल्प को सॉफ्ट और डैंड्रफ फ्री बना सकते हैं।

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है

जब आप लकड़ी की कंघी का इस्तेमाल करेंगी, तो यह कंघी आपके स्कैल्प में मौजूद ऐक्युपंक्चर पॉइंट्स को उत्तेजित करती है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। स्कैल्प हेल्दी होने से बालों की जड़े मज़बूत होती हैं।

बालों को पोषण मिलता है

जब आप प्लास्टिक की जगह लकड़ी की कंघी से बालों को संवारती हैं, तो स्कैल्प में मौजूद कुदरती तेल आपके बालों में बराबर रूप से फैलता है, जिससे बाल हेल्दी, चमकदार और खूबसूरत होते हैं और झड़ना बंद होता है।

बाल टूटने की समस्या कम

अगर आपके बाल कंघी करते वक्त अक्सर टूट जाते हैं, तो आपको लकड़ी की कंघी का ही इस्तेमाल करना चाहिए। इससे बाल उलझते नहीं हैं, और आसानी से सुलझ जाते हैं।

ऑयली बालों की समस्या होगी दूर

कई लोगों का स्कैल्प ऑयली होता है। यह प्रकृतिक तेल अगर पूरे सिर में सही तरीके से न फैले, तो बालों को पोषण नहीं मिलता। लकड़ी की कंघी इस तेल को बराबरी से पूरे सिर में फैलाती है, जिससे बाल जल्दी ऑयली नहीं होते।

Disclaimer:लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button