मिलावटी शहद है सेहत के लिए हानिकारक, इस तरह करें असली-नकली की पहचान

honey

शहद एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में स्थापित है। इसके सेवन से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। हालाँकि ऐसा तभी होगा जब शहद पूरी तरह से शुद्ध हो और उसमें किसी प्रकार की कोई मिलावट न हो।

मिलावटी शहद से न सिर्फ संक्रमण का खतरा होता है बल्कि व्यक्ति मोटापे एवं वजन बढ़ाने जैसी समस्याओं भी पैदा होती हैं। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि हम असली और नकली शहद की पहचान कर सकें आइए और अपनी सेहत को ठीक बनाए रखें।

इस तरह करें असली और नकली शहद की पहचान-

जलाकर देखें शहद-

एक मोमबत्ती लें, इसके बाद एक लकड़ी पर रूई के ऊपर शहद लगा दें।

इसके बाद मोमबत्ती की सहायता से उसे जलाएं।

अगर रूई आंच पकड़ लेती है और वह जलने लग जाती है तो शहद असली है और रुई जलने में टाइम लेती है तो शहद में पानी मिक्स है।

गर्म पानी –

एक कांच के गिलास में गर्म पानी डालें। गिलास में एक चम्मच शहद डालें।

अगर शहद पानी में तुरंत घुल गया तो शहद में मिलावट है।

अगर वह एक गाढ़ा तार बनकर नीचे बैठ जाता है तो शहद असली है।

टिश्यू पेपर से पहचान-

टिश्यू पेपर पर शहद को डालें।

शुद्ध शहद टिश्यू पेपर ही टिका रहेगा।

अंगूठे से करें जांच-

शहद की एक बूंद अंगूठे और उंगली के बीच रखें।

इससे तार बनाने की कोशिश करें।

अगर शहद शुद्ध होगा, तो इसमें मोटी तार बनेगी।

साथ ही शुद्ध शहद अंगूठे पर ही जमा रहेगा जबकि मिलावटी शहद फैल जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button