उप्र: स्वास्थ्य सेवाएं नई ऊॅचाइयों पर, सरकारी पैथालॉजी की जांच रिपोर्ट अब ऑन-लाइन

UP Health Minister Jay Pratap Singh

लखनऊ। आज से लगभग 04 वर्ष पूर्व नीति आयोग ने अपनी रिपोर्ट में उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को बिहार राज्य से ऊपर 23वें स्थान पर रखा था, परन्तु नीति आयोग की वर्तमान रिपोर्ट के अनुसार उप्र राज्य के जिला चिकित्सालयों की स्वास्थ्य सेवाएं उच्च स्तर की हो गयी हैं।

जहॉं एक ओर सम्पूर्ण देश में कोविड महामारी के कारण चिकित्सकीय सेवाएं ध्वस्त हो गयी थीं, वहीं उप्र के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के अथक प्रयासों से प्रदेश के 06 जिला चिकित्सालयों- बलरामपुर चिकित्सालय, लखनऊ, मलखान सिंह जिला चिकित्सालय, अलीगढ़, जिला चिकित्सालय, प्रयागराज, जिला चिकित्सालय, फिरोजाबाद, जिला चिकित्सालय, कन्नौज व जिला चिकित्सालय, मऊ को प्रथम 06 शीर्ष स्थान प्राप्त हुए।

MRI Test Facility Will Soon In Balrampur Hospital - बलरामपुर अस्पताल में  जल्द मिलेगी MRI जांच की सुविधा | Patrika News

राजधानी का बलरामपुर चिकित्सालय जहाँ कुछ सालों पहले अनपी बदहाली पर आंसू बहा रहा था वहीँ अब इस सरकारी हॉस्पिटल की सभी व्यवस्थाएं उच्च स्तरीय हो चुकी हैं।

अब यहां भर्ती मरीजों व उनके तीमारदारों को सभी प्रकार की सुविधाएं प्राप्त हो रही हैं। खासतौर पर ओपीडी व पैथालॉजी सेवाओं में यह चिकित्सालय तमाम निजी चिकित्सालयों को मात दे रहा है।

प्रदेश ने यह मुकाम जिला चिकित्सालयों की ओपीडी में अत्यधिक मरीजों को देख कर, मरीजों को आईपीडी में भर्ती कर उच्च स्तर की चिकित्सकीय सुविधा मुहैया कराने तथा पैथालॉजी सेवाओं में जॉंचों की संख्या में वृद्धि के साथ-साथ गुणवत्तापूर्ण रिपोर्ट मरीजों को उपलब्ध कराकर एवं सर्जरी की संख्या में वृद्धि कर, रेडियोलॉजी इत्यादि विभागों में अभूतपूर्व कार्य करके हासिल किया है, जिसमें पैथालॉजी सेवाएं उल्लेखनीय हैं।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप एवं प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद का अथक प्रयास ही है कि वर्तमान में प्रदेश के सभी चिकित्सालय आईएसओ सर्टिफाइड हो गये हैं तथा वहॉं पर पैथालॉजी सेवाओं को एनएबीएल प्रोटोकॉल के आधार पर संचालित किया जा रहा है।

जिला चिकित्सालयों में एनएबीएल अभिप्रमाणन होने के कारण यहॉं से मिलने वाली जॉंच रिपोर्ट 80 से अधिक देशों में मान्य हो गयी है।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप एवं प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद की ही मेहनत है कि वर्तमान में जिला चिकित्सालयों की पैथालॉजी सेवाओं का स्तर प्राइवेट पैथालॉजी से कई गुना ऊपर हो गया है।

जिला चिकित्सालयों में पैथालॉजी सेवाओं का संचालन 24 घण्टे किया जा रहा है तथा मरीजों को ऑन-लाइन रिपोर्ट का लाभ प्राप्त हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button