किसान आंदोलन में फूट की ख़बर, आज होने वाली 40 संगठनों की बैठक रद्द

किसान आंदोलन में फूट की ख़बर

नई दिल्ली। किसान आंदोलन में फूट की ख़बरों के बीच दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर आज होने वाली 40 किसान संगठनों की बैठक रद्द हो गई है। इस बैठक में एमएसपी कमेटी और कृषि कानूनों की वापसी के बाद आंदोलन के भविष्य को लेकर चर्चा होनी थी।

माना जा रहा है कि पंजाब के अधिकतर किसान अब आंदोलन को खत्म करने के पक्ष में हैं। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने एक बार फिर से दोहराया है कि उनका आंदोलन जारी रहेगा। अब 4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक भी होनी है।

गौरतलब है कि संसद में सोमवार को कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने संबंधी विधेयक को पारित कर दिया गया था।

4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक

संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक रद्द होने के सवाल पर सवाल पर राकेश टिकैत ने कहा, बैठक 4 दिसंबर को होनी है। आज की बैठक किसान संगठनों के बीच की थी।

उन्होंने कहा कि चूंकि सरकार ने अभी तक सारी मांगे नहीं मानी हैं, इसलिए आंदोलन जारी रहेगा। 4 दिसंबर को होने वाली बैठक में आंदोलन के आगे की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

सरकार ने MSP पर बातचीत के लिए मांगे 5 प्रतिनिधियों के नाम

उधर, मंगलवार को किसान नेताओं ने दावा किया कि केंद्र सरकार ने एमएसपी से संबंधित मसले पर बात करने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा से पांच प्रतिनिधियों के नाम मांगे हैं।

किसान नेता दर्शन पाल ने कहा कि 5 नामों को लेकर हमारे एक साथी के पास एक फोन आया था, सरकार ने एमएसपी से संबंधित मसले पर बात करने के लिए पांच प्रतिनिधियों के नाम मांगे हैं। इन 5 नामों को लेकर 4 दिसंबर को फैसला लिया जाएगा।

बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा, 40 से अधिक किसान संगठनों की एक संयुक्त शाखा है, जो कि एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी सहित तीन कृषि कानूनों और उनकी अन्य मांगों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का नेतृत्व कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button