उप्र: प्रधानाचार्य भर्ती हेतु अब देनी होगी लिखित परीक्षा, शासन को भेजा प्रस्ताव

UPSESSB

लखनऊ। उप्र के 4500 से अधिक सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाचार्य के रिक्त पदों पर भर्ती अब लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के माध्यम से होगी।

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने प्रधानाचार्य के तकरीबन 2000 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा है। तकरीबन नौ साल बाद शुरू होने जा रही भर्ती में बड़ा बदलाव प्रस्तावित है। पूर्व से कार्यरत शिक्षकों से ही प्रधानाचार्य पद पर भर्ती के लिए आवेदन लिया जाएगा।

अभ्यर्थियों को वरिष्ठता, पीएचडी, एमएड के साथ अन्य किसी प्रकार का कोई वेटेज नहीं दिया जाएगा। प्रधानाचार्य पदों पर भर्ती के लिए 450 अंकों की लिखित परीक्षा कराई जाएगी। दो घंटे की परीक्षा में 125 प्रश्न पूछे जाएंगे।

एडेड माध्यमिक स्कूलों में प्रधानाचार्य के 1453 रिक्त पदों की सूचना वर्ष 2019 में मिली थी। 2021 में 465 और पदों का अधियाचन चयन बोर्ड को प्राप्त हुआ। इस प्रकार कुल 1938 रिक्त पद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button