इस तारीख से लग रहा है सावन का महीना, भगवान शिव की होती है विशेष पूजा-अर्चना

भगवान शिव

हिंदी पचांग का पांचवा महीना श्रावण है, जिसे सावन नाम से भी जाना जाता है। सावन माह देवो के देव भगवान शिव को समर्पित है। इस माह में भगवान शिव की पूजा-आराधना की जाती है। सावन माह के प्रत्येक सोमवार को शिव की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है।

शिव भक्त पूरी श्रद्धा के साथ इस महीने का इंतजार करते हैं। इस माह के प्रत्येक सोमवार को पूजा करने का विशेष पुण्य प्राप्त होता है।

शिव को प्रसन्न करने के लिए महिलाएं सोलह सोमवार का व्रत पूरी श्रद्धा के साथ रखती हैं। इसी माह में शिव भक्त कांवड की यात्रा आयोजित करते हैं।

कब शुरू हो रहा है सावन माह

पचांग के अनुसार, आषाढ़ माह के बाद श्रावण माह की शुरुआत होती है। 24 जुलाई के दिन आषाढ़ माह समाप्त हो रहा है और 25 जुलाई से सावन माह की शुरुआत होगी। श्रावण माह 25 जुलाई से 22 अगस्त तक चलेगा।

श्रावण माह में पड़ने वाले सोमवार व्रत

26 जुलाई को पहला सावन सोमवार व्रत

02 अगस्त को दूसरा सावन सोमवार व्रत

09 अगस्त को तीसरा सावन सोमवार व्रत

16 अगस्त को चौथा सावन सोमवार व्रत

सावन माह का महत्व

सावन माह का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। इस माह में शिव की पूजा से भक्तों की सभी मनोकामनाएँ पूरी होती हैं। इस माह में सोमवार के व्रत से शीघ्र फल प्राप्त होता है।

इस माह में शिव की पूजा से विवाह में आने वाली दिक्कतें दूर हो जाती हैं। सावन में शिव पूजा से सभी तरह के दुख की समाप्ति होती है। शिव पूजा से हमारे समस्त पाप का नाश होता है और मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button