OMG! इस आम के पेड़ पर लगते हैं 121 वैराइटी के आम, जानिए कैसे?

Mango Tree (symbolic photo)

सहारनपुर (उप्र)। यदि कोई आपसे कहे कि आम के एक ही पेड़ पर 121 वैराइटी के आम लगते हैं, तो शायद आप विश्वास न करें लेकिन ये हकीकत है। उप्र के सहारनपुर में कंपनी बाग में एक ही पेड़ पर बांधी गई आम की प्रजाति की 121 कलम अब फल देने लगीं हैं।

यह शोध 10 साल पूर्व हुआ था, तब 54 प्रजाति की कलम आम के पौधे पर रोपी गई थीं। बाद में एक अन्य पेड़ पर 121 प्रजाति की कलम बांधी गई, जिसमें इस बार 20 से ज्यादा प्रजाति के आम पेड़ पर लगे हैं। ऐसा इसलिए भी, क्योंकि हर साल प्रत्येक प्रजाति का आम नहीं आ रहा है। 

ये हैं आम की खास प्रजातियां 

दशहरी, लंगड़ा, चौंसा, रामकेला, आम्रपाली, सहारनपुर अरुण, सहारनपुर वरुण, सहारनपुर सौरभ, सहारनपुर गौरव, सहारनपुर राजीव, लखनऊ सफेदा, टॉमी ऐट किंग्स, पूसा सूर्या, सैंसेशन, रटौल, कलमी मालदा, बांबे, स्मिथ, मैंगीफेरा जालोनिया, गोला बुलंदशहर, लरंकू, एलआर स्पेशल, आलमपुर बेनिशा, अजवायन, असौजिया देवबंद समेत 121 किस्म के आम लगते हैं।  

पेड़ पर बांधी गई कलमों को प्रदर्शित करने के लिए प्रजाति के नाम की पट्टिका भी लगाई गई थीं, जिनमें काफी पट्टिका अब गिर भी चुकी हैं। इस बाग की देखभाल करने वाले प्रभारी मोतीराम का कहना है कि पेड़ पर हर साल अलग-अलग प्रजाति के आम लगते हैं। 

यह प्रयोग औद्यानिक प्रयोग एवं प्रशिक्षण केंद्र के तत्कालीन संयुक्त निदेशक राजेश प्रसाद के समय में कराया गया था। उस दौरान पेड़ पर आम की अलग-अलग प्रजाति की कलम (ब्रांच) लगाई थीं। 

औद्यानिक प्रयोग एवं प्रशिक्षण केंद्र के संयुक्त निदेशक बीपी राम ने बताया आम के पेड़ पर शोध कार्य किए गए हैं। अलग-अलग किस्म के आम की ब्रांच लगाई गई थीं। अब पेड़ पर फल आ रहा है। नई प्रजातियों पर भी शोध कार्य चल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button