5000 मीटर दौड़: अविनाश साबले ने बनाया राष्ट्रीय रिकॉर्ड, टूटा 30 साल पुराना रिकॉर्ड

अविनाश साबले

नई दिल्ली। 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक अविनाश साबले ने 5000 मीटर दौड़ में नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया है। उन्होंने 13:25.65 मिनट में रेस पूरी कर बहादुर प्रसाद का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा है। बहादुर ने साल 1992 में यह रिकॉर्ड बनाया था।

अमेरिका के कैलीफोर्निया में आयोजित रेस में अविनाश 12वें नंबर पर रहे, लेकिन इस दौरान उन्होंने राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम किया। नार्वे के जैकब ने 13 मिटन दो सेकेंड में यह दौड़ पूरी कर प्रतियोगिता अपने नाम की। उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में 1500 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

साबले की ही नाम है 3000 मीटर स्टीपलचेज का रिकॉर्ड

3000 मीटर स्टीपलचेज सबसे कम समय में पूरी करने का रिकर्ड अविनाश साबले के ही नाम है। उन्होंने कई बार अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा है। टोक्यो ओलंपिक में अविनाश साबले ने 8:18.12 समय के साथ राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन फाइनल में जगह नहीं बना पाए थे।

इस प्रतियोगिता में वो सातवें स्थान पर रहे थे। तीन हजार मीटर स्टीपल चेज का रिकॉर्ड इससे पहले भी उनके ही नाम था। साबले ने मार्च 2021 में फेडरेशन कप में 8: 20. 20 मिनट में दौड़ पूरी कर राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था।

30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा

महाराष्ट्र के बीड जिले के रहने वाले अविनाश सेना के जवान हैं। 27 साल के इस एथलीट ने बहादुर प्रसाद का राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा है, जिन्होंने 1992 में बर्मिंघम में आयोजित प्रतियोगिता में 13:29.70 मिनट में दौड़ पूरी की थी।

साबले कई बार 3000 मीटर स्टीपलचेज में अपना ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। तिरुवनंतपुरम में भारतीय ग्रांड प्रिक्स के दौरान उन्होंने 8:16.21 मिनट में दौड़ पूरी कर सातवीं बार अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा था। 15 जुलाई से अमेरिका में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए वो पहले ही क्वालीफाई कर चुके हैं।

भारतीय एथलेटिक्स के मुख्य कोच राधाकृष्णन नायर ने कहा कि वो एशियन गेम्स में अविनाश को 3000 मीटर स्टीपलचेज और 5000 मीटर रेस दोनों में उतारने का प्लान कर रहे थे।

उनके पास दोनों इवेंट में मेडल जीतने की क्षमता है। एशियन गेम्स का आयोजन चीन के हांगझू में 10 से 15 सितंबर के बीच होना था, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते इन्हें 2023 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button