डेनमार्क की पीएम ने कहा- मोदी जी आप बाकी दुनिया के लिए एक प्रेरणा हैं

PM modi with denmark PM

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डेनमार्क की पीएम मेटे फ्रेडरिकसेन के बीच आज शनिवार को हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता हुई। इस बैठक में ‘हरित सामरिक गठजोड़’ के क्षेत्र में प्रगति की समीक्षा करने के साथ द्विपक्षीय संबंधों के विविध आयामों पर चर्चा की गई।

इस मौके पर डेनमार्क की पीएम मेटे फ्रेडरिकसेन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी दुनिया के बाकी हिस्सों के लिए एक प्रेरणा हैं क्योंकि आपने 10 लाख से अधिक घरों में स्वच्छ पानी और नवीकरणीय ऊर्जा के लिए कुछ बहुत ही महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किए हैं। मुझे गर्व है कि आपने यात्रा के लिए मेरा निमंत्रण स्वीकार कर लिया है।  

पीएम मोदी ने कहा कि आज की हमारी मुलाकात भले ही पहली रूबरू मुलाकात थी लेकिन कोरोना कालखंड में भी भारत और डेनमार्क के बीच संपर्क और सहयोग की गति बरकरार रही थी।

दोनों देशों ने पानी, ग्रीन ईंधन, स्वास्थ्य और कृषि जैसे क्षेत्रों में एक साथ कार्य करने की सहमति जताई। दोनों देशों के बीच कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति पर भी चर्चा की गई। बैठक समाप्त होने के बाद दोनों देशों के बीच समझौतों का आदान-प्रदान भी किया गया।

भारत के विकास के लिए डेनमार्क की भूमिका अहम: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि हम जिस स्केल और स्पीड से आगे बढ़ना चाहते हैं उसमें डेनमार्क की विशेषज्ञता और तकनीक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती है। भारत की अर्थव्यवस्था में आए रिफॉर्म्स विशेष रूप से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में उठाए गए कदम ऐसी कंपनियों के लिए अपार अवसर प्रस्तुत कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि आज से एक साल पहले हमने अपने वर्चुअल समिट में भारत और डेनमार्क के बीच ग्रीन स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप स्थापित करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया था। यह हम दोनों देशों की दूरगामी सोच और पर्यावरण के प्रति सम्मान का प्रतीक है।

पीएम मोदी ने कहा आज हम पानी और ग्रीन ईंधन पर काम करने के लिए सहमत हुए हैं। हम स्वास्थ्य और कृषि जैसे क्षेत्रों पर भी साथ मिलकर काम करने पर सहमत हुए हैं। हमारा हरित सहयोग बहुत महत्वाकांक्षी है। 

डेनमार्क की पीएम ने कहा कि हम दो लोकतांत्रिक देश हैं जो नियमों पर आधारित एक अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में विश्वास करते हैं। भारत और डेनमार्क के बीच सहयोग इस बात का एक बड़ा उदाहरण है कि कैसे हरित विकास और हरित संक्रमण साथ-साथ चल सकते हैं।

बता दें कि पीएम फ्रेडरिकसन अपनी तीन दिवसीय यात्रा पर भारत आई हुई हैं, इस दौरान वह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मुलाकात करेंगी।  कोरोना काल में बीते 20 महीनों के दौरान यह किसी प्रधानमंत्री की पहली भारत यात्रा है। 

डेनमार्क की पीएम का राष्ट्रपति भवन में हुआ जोरदार स्वागत

डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन का शनिवार को राष्ट्रपति भवन में जोरदार स्वागत किया गया। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने उनकी अगवानी की। 

राष्ट्रपति भवन पहुंचने के बाद फ्रेडरिकसेन ने बयान जारी करते हुए कहा कि हम भारत को एक बहुत करीबी पार्टनर मानते हैं। मैं इस यात्रा को डेनमार्क-भारत द्विपक्षीय संबंधों के लिए एक मील के पत्थर के रूप में देखती हूं।

रविवार को आगरा में ताजमहल का दीदार करेंगी पीएम फ्रेडरिकसेन

डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन रविवार को ताजमहल और आगरा किला का दीदार करेंगी। उनके दौरे के कारण रविवार सुबह ताजमहल और आगरा किला पर्यटकों के लिए बंद किया जाएगा।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीक्षण पुरातत्वविद ने शुक्रवार को ताज और किला बंद करने की सूचना जारी कर दी।

इसके मुताबिक रविवार सुबह 8.30 बजे से 10.30 बजे तक ताजमहल पर्यटकों के लिए बंद रहेगा, जबकि आगरा किला को सुबह 9.50 बजे से 11.50 बजे तक बंद रखा जाएगा।

डेनमार्क की प्रधानमंत्री आज रात को विशेष विमान से सीधे खेरिया हवाई अड्डे पर पहुंचेंगी, जहां उनका भव्य स्वागत किया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button