पूर्व IAS अधिकारी शाह फैसल का राजनीति से मोहभंग, सेवा में लौटने के संकेत

IAS topper Shah Faesal

नई दिल्ली। पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैसल का राजनीति से मोहभंग हो गया है। जम्मू-कश्मीर के पहले यूपीएससी टॉपर रहे फैसल ने सिविल सेवा में लौटने का संकेत दिया है।

फैसल ने कई ट्वीट कर 2019 में सरकारी नौकरी छोड़कर सियासत में कूदने के फैसले को लेकर बातें कही हैं। बुधवार को किए गए ट्वीट्स में फैसल ने अपनी उन आदर्शवादी बातों का भी जिक्र किया है, जिनके कारण वे राजनीति में आए थे।

अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी बनाई थी

फैसल ने 2009 में यूपीएससी की परीक्षा में टॉप किया था। उन्होंने देश में बढ़ती कथित ‘असहिष्णुता’ को लेकर जनवरी 2019 में सरकारी नौकरी छोड़ दी थी और राजनीति के मैदान में उतरे थे। मार्च 2019 में उन्होंने अपनी खुद की पार्टी ‘जम्मू कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट’ बनाई थी। फैसल ने उस वक्त अपने गृह राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में लड़ने की भी मंशा जताई थी।

फैसल ने ट्वीट में यह लिखा

पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैसल ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मेरे जीवन के आठ महीनों (जनवरी 2019-अगस्त 2019) ने इतना कचरा पैदा किया कि मैं लगभग समाप्त हो गया था। एक कल्पना का पीछा करते हुए, मैंने लगभग वह सब कुछ खो दिया, जो मैंने वर्षों में बनाया था। काम, मित्र, प्रतिष्ठा और सबकी सद्भावना खो दी, लेकिन मैंने कभी उम्मीद नहीं खोई।

मेरे आदर्शवाद ने मुझे निराश किया, लेकिन मुझे खुद पर भरोसा है कि मैं अपने द्वारा की गई गलतियों को दुरुस्त करूंगा। जीवन में मुझे एक और मौका मिलेगा। उन आठ माह की यादों का एक हिस्सा मिट चुका है और मैं उस विरासत को पूरी तरह मिटाना चाहता हूं। इसका बहुत कुछ हिस्सा पहले ही खत्म हो गया है। बची बातों पर भी समय पोंछा मार देगा।’

क्या उपराज्यपाल के सलाहकार बनेंगे?

हालांकि अपने ट्वीट में फैसल ने अभी यह खुलासा नहीं किया है कि वह आगे क्या करने वाले हैं और उन्हें कौन-सा व कहां मौका मिलने वाला है, लेकिन बीते एक साल से उन्हें लेकर अटकलें चल रही हैं। माना जा रहा है कि वे या तो आईएएस सेवा में बहाल होंगे या उन्हें जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल का सलाहकार बनाया जाएगा।

370 खत्म करने पर दी थी गिरफ्तारी, अब बदला नजरिया

फैसल ने जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने व अनुच्छेद 370 खत्म करने के विरोध में गिरफ्तारी भी दी थी, लेकिन बीते कुछ माहों में उनका नजरिया बदल चुका है। अब वे केंद्र सरकार की नीतियों का समर्थन करते नजर आ रहे हैं। वे सोशल मीडिया में पीएम नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह के भाषण व ट्वीट को साझा भी करते नजर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button