दही-किशमिश का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद, जानें खाने का सही समय

दही-किशमिश के फायदे

दोपहर में भूख लगने पर अक्सर लोग अनहेल्दी चीजें खाते हैं। खासकर शाम चार से पांच बजे के बीच ऐसा करना आदत सी बन गई है। ऐसे में आज हम आपको एक हेल्दी चीज के बारे में बताने जा रहे हैं।

हम बात कर रहे है दही-किशमिश की। दही और किशमिश हेल्थ के लिए रामबाण उपाय है। यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

दही-किशमिश की खासियत

दही खाने से पाचन क्रिया बढ़ती है।

इससे त्‍वचा की चमक बनी रहती है।

दही-किशमिश का कॉम्बो आपके पेट के बुरे बैक्टीरिया को बेअसर करने में मदद करता है साथ ही अच्छे बैक्टीरिया की ग्रोथ को बढ़ावा देता है।

इसके सेवन से आंतों की सूजन कम होती है, क्योंकि दही प्रोबायोटिक का काम करता है और किशमिश में मौजूद सॉल्युबल फाइबर भी ह्यूमन बॉडी के लिए बहुत फायदेमंद है।

एक ग्लास गर्म दूध में किशमिश (काले रंग की हो तो बेहतर) और आधा चम्मच दही मिलाकर सेवन करें।

इससे रूखी त्वचा की समस्या दूर होती है।

दही और किशमिश का कॉकटेल बालों को सफेद होने से रोकता है।

दही और किशमिश को एकसाथ खाने पीरियड्स के दर्द में आराम मिलता है.

इन दोनों को एकसाथ खाने से हड्डियां में मजबूत आती है।

बढ़े हुए ब्‍लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी दही और किशमिश बहुत फायदेमंद होती है.

कब खाएं दही-किशमिश?

दही-किशमिश खाने का बेस्‍ट टाइम है दोपहर या सुबह ब्रेकफास्ट का समय।

आप दही-किशमिश को दोपहर करीब 3-4 बजे मिड-डे मील के रूप में खा सकते हैं।

ध्‍यान रहे कि एक कटोरी दही में बहुत अधिक किशमिश न डालें।

अच्छा है कि एक कटोरी दही में आप 4-5 किशमिश ही डाल कर खाएं।

डिसक्लेमर: इस लेख में प्रकाशित जानकारी घरेलू नुस्खों पर आधारित है। हम इसकी पुष्टि नहीं करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button